विपक्षी पार्टियों की कार्यकारिणी भंग पड़ी हैं, 2022 चुनाव जीतने का सपना देख रहे हैं। सर्प निकल जाए तो लकीर पीटने से कोई फायदा नहीं होता

 



जय जवान जय किसान, एकता जागरूकता, भाईचारा, जिंदाबाद, तिरंगा देश की शान, हम सबका भारत देश, जिंदाबाद

 

चौधरी शौकत अली चेची


------------------------------- देश की यह कैसी सरकार, चारों तरफ हो रहा है हाहाकार, जाति धर्म की द्वेष भावना, झूठ गुमराह नफरत की आखिर कब तक चलेगी बहार। लाला रामदेव ने तो एलोपैथिक दवा पर ही सवाल उठा दिए कोई एक्शन नहीं। सच्चाई उजागर करने वाले तथा विपक्षी पार्टियां अपराधी और देशद्रोही बताई जा रही हैं और बनाई जा रही हैं। बीजेपी घर.घर में अपना कार्यकर्ता तैयार कर चुकी है और 2022 चुनाव जीतने की रणनीति तैयार कर रही है। पूरा का पूरा विपक्ष भांग की गोलियां खाकर नशे में है। विपक्षी पार्टियों की कार्यकारिणी भंग पड़ी हैं, 2022 चुनाव जीतने का सपना देख रहे हैं। सर्प निकल जाए तो लकीर पीटने से कोई फायदा नहीं होता। टीवी डिबेट में विपक्षियों को बैठने से लाभ नहीं, बशर्ते बीजेपी को लाभ हो रहा है। सोशल मीडिया बीजेपी की सच्चाई को उजागर कर रही है। इसी वजह से सत्ता में बैठी सरकार सोशल मीडिया को अपने कब्जे में लेने की रणनीति बना रही है। विरोधी पार्टियां ट्यूटर ट्यूटर खेल रही हैं, कार्यकारिणी भंग पड़ी हैं, चुनाव लड़ाने वाले प्रत्याशियों पर कोई विचार नहीं। जिम्मेदार कार्यकर्ता अपने साथ लगभग 5 वोटरों को जोड़ता है। विपक्षी पार्टियां कार्यकर्ता को केवल बंधुआ मजदूर की तरह समझ कर चल रहे हैं। हवाई नेताओं की सलाह से जनता और पार्टी तथा देश को नुकसान पहुंचा रहे हैं। बीजेपी को सत्ता तक पहुंचा रहे हैं, सच्चाई कड़वी होती है, सच्चाई उजागर करने वाला देश में अपराधी या बुद्धिहीन माना जा रहा है। देश के चारों तरफ से बर्बादी के द्वार खुल रहे हैं। विपक्षी पार्टियों को अपनी आंखें खोल लेनी चाहिए। 2022 चुनाव नजदीक है, रोजी.रोटी, रोजगार, अधिकार गए अब देश में जानें भी जा रही हैं। अगर इसी तरह से विपक्षी पार्टियां तमाशा देखती रही तो भाजपा को परास्त करना आसान नहीं है, क्योंकि हमारे देश में गोदी मीडिया के द्वारा लोगों को मूर्ख बनाना बर्बाद करना आसान है। तबलीगी जमाती का मुद्दा इस समय मीडिया का हाथ नही लगा। इसलिए गोदी मीडिया और सरकार अब अन्नदाता को टारगेट करने की कोशिश कर रही हैं। जय जवान जय किसान, एकता जागरूकता, भाईचारा, जिंदाबाद, तिरंगा देश की शान, हम सबका भारत देश, जिंदाबाद।

लेखकः- भारतीय किसान यूनियन ’’बलराज’’ के उत्तर प्रदेश अध्यक्ष हैं।