कीचड़ भरे रास्ते से के कारण पैर फिसलने पर महिला चोटिल

 


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

जुनेदपुर गांव में जलभराव की समस्याओं से ग्रामीण परेशान हैं। नालियों का सारा पानी फैल कर ताल तलैया में तब्दील हो चुका है। यही कारण है कि जुनेदपुर गांव में कुसुम 52 वर्ष महिला पत्नि धीरज नागर महीनों से कीचड़ भरे रास्ते से आवागमन के कारण पैर फिसलने पर दाहिना हाथ तक टूट गया है। चौधरी चरण सिंह नागर ने बताया कि जुनेदपुर गांव वालों का कहना है कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ऐसे और कितने लोगों के हादसे का इंतजार कर रहा है। वहीं गांव वालों ने कहा है कि जल्द से जल्द मुख्य मार्ग ठीक नहीं कराया गया, तब ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के किसी सदस्य को गांव में घुसने नहीं दिया जाएगा। जिसमें गांव की समस्याओं को लेकर चर्चा की गई। पर्यावरण संरक्षण समिति के अध्यक्ष संजय नवादा ने बताया कि गांव जुनेदपुर, बरसात, दाउदपुर,दादूपुर, नवादा,पीपलका, राजपुर,अमरपुर, हतेवा गांव में शमशान, नाली, खंडजा व तालाब आदि की समस्याओं का अंबार लगा हुआ है। जिसके लिए जल्द ही पर्यावरण संरक्षण समिति ग्रामीणों के साथ मिलकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर प्रदर्शन कर  समस्याओं के निवारण की मांग करेगी। उन्होंने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने पंचायत चुनाव खत्म करते समय ग्रेटर नोएडा के अंतर्गत सभी गांवों को स्मार्ट विलेज बनाने की बात की थी। किंतु अधिकारियों द्वारा गांवों की समस्याओं की ओर कोई ध्यान नही दिया जा रहा। वर्तमान में पर्यावरण संरक्षण समिति लगातार गांव की समस्याओं को लेकर कार्य कर रही है, जो लगातार जारी रहेगा।

>