सफाई कर्मचारियों की मूलभूत सुविधाएं 25 फरवरी तक नहीं मिली तो 1 मार्च से फिर आंदोलन करेंगेः चौधरी प्रवीण भारतीय

 


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय में पिछले 1 सप्ताह से सफाई कर्मचारियों की मूलभूत समस्याओं की मांग को पूर्ण कराने को लेकर कर्मचारियों का विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर प्रदर्शन चल रहा था। प्रदर्शन में समर्थन के रूप में करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ताओं ने सहयोग कर विश्वविद्यालय प्रशासन पर सफाई कर्मचारियों की मांग मनवाने का दबाव बनाया। इसके फलस्वरूप आज गौतमबुद्ध विश्वविद्यालय एवं ठेकेदार की तरफ से सफाई कर्मचारियों को लिखित में कुछ समस्याओं के समाधान का आश्वासन मिला है। करप्शन फ्री इंडिया के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि पिछले 1 सप्ताह से चल रहे सफाई कर्मचारियों के धरने को करप्शन फ्री इंडिया संगठन का समर्थन मिलने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन हरकत में आया, जिसके बाद सफाई कर्मचारियों की मुख्य मांग पूर्ण वेतन, पी.एफ, ई.एस.आई. कार्ड, आई कार्ड एवं मूलभूत सुविधाओं की मांगों को विश्वविद्यालय प्रशासन एवं ठेकेदार ने लिखित रूप में मान लिया। साथ ही वेतन बढ़ाने की मांग व कोरोना काल में नौकरी से बाहर किए गए सफाई कर्मचारियों को पुनः नौकरी देने की मांग 28 फरवरी तक मानने का आश्वासन दिया है। इसलिए 28 फरवरी तक आंदोलन को स्थगित किया गया है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि सफाई कर्मचारियों की तरफ से विश्वविद्यालय के कुलपति को संबोधित पत्र, ईकोटेक फर्स्ट थाने के सब इंस्पेक्टर अभिलाष कुमार त्यागी को सौंपते हुए यह मांग की गई है कि सफाई कर्मचारियों की मूलभूत सुविधाएं 25 फरवरी तक नहीं मिली तो 1 मार्च से फिर सफाई कर्मचारी एवं क्षेत्र के लोग विश्वविद्यालय प्रशासन के खिलाफ आंदोलन करेंगे। इस दौरान चौधरी प्रेम प्रधान, कृष्ण नागर, रिंकू बैसला, कपिल तौंगड, सरवन नागर, रणवीर जांगरा, सविता शर्मा, मिंटू कुमार, राहुल कुमार, टीटू सिंह, राकेश कुमार, जगदीश, गुड्डू, प्रीति, पूनम देवी, राजवती, सुमन देवी, लीला देवी, जय देवी, मीनू, बबीता आदि लोग मौजूद रहे।