विजन लाइव/ ग्रेटर नोएडा 
जनपद मुख्यालय पर बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत शिक्षक एवं शिक्षिकाओं ने राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जनपद अध्यक्ष अशोक यादव के नेतृत्व में हजारों की संख्या में इकट्ठे होकर ए. डी.एम.इ. प्रशासन दिवाकर सिंह के माध्यम से प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी को शिक्षकों की समस्याओं से सम्बंधित दस सूत्री ज्ञापन भेजकर वर्षों से लंबित समस्याओं के समाधान हेतु मांग की है ।विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की उदासीनता के चलते कई समस्याएं वर्षों से व्याप्त हैं ।जिससे शिक्षक शिक्षिकाओं तथा शिक्षणेत्तर कर्मचारियों में भारी रोष व्याप्त है । हाल ही में जारी हुए आदेश में शिक्षकों की वार्षिक गोपनीय आख्या से सम्बंधित पैरामीटर्स में शिक्षण कार्यों से इतर कई ऐसे बिन्दुओं को भी सम्मिलित किया गया है। जिनका शिक्षण व्यवस्था से कोई सम्बन्ध नही है, ऐसे आदेश को तत्काल वापस लेने की मांग की है । शिक्षकों ने उक्त आदेश को “बेसिक शिक्षा का काला कानून-पत्र” की संज्ञा दी है ।ज्ञापन में ऐसी कई पुरानी मांगों को भी शामिल किया गया है जिन पर शासन से पूर्व में विचार विमर्श होने के बाद भी उनका कोई समाधान नही निकाला गया है। जैसे- शिक्षकों को अन्य राज्यों की भांति राज्यकर्मी का दर्जा देना, विशिष्ट बी.टी.सी. 2004 बैच को पुरानी पेंशन से आच्छादित करना, पूर्व में निर्धारित पदों के आधार पर पदोन्नति, वर्षों से रुकी हुई पदोन्नति व्यवस्था को शीघ्र शुरू करने, जनपद के अंदर वर्षों से स्थगित पड़े शिक्षकों के स्थानांतरण शीघ्र करने, प्रत्येक शिक्षक को दुर्घटना या असामयिक मृत्यु होने पर 20 लाख का सामूहिक बीमा, प्रत्येक शिक्षक/ शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को स्वस्थ्य सम्बन्धी समस्याओं हेतु 10 लाख का सामूहिक स्वस्थ्य बीमा,  शिक्षकों के असामयिक मृत्यु होने पर उनके आश्रित को अनुकम्पा आधारित नियुक्ति में शिक्षक की योग्यता न होने पर अनिवार्य रूप से तृतीय श्रेणी ( लिपिक पद ) पर नियुक्ति करने, पूर्व में नियुक्त कर्मी को शिक्षक पद हेतु वांक्षित योग्यता पूर्ण करने पर शिक्षक पद पर नियुक्त करने, मनमाने तरीके से शिक्षकों को निलंबित करने का अधिकार जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से हटाकर ए डी. बेसिक अथवा किसी अन्य उच्च अधिकारियों में निहित करने, प्राथमिक/उच्च प्राथमिक विद्यालयों में पदोन्नति होने पर क्रमशः 17140/18150 का लाभ  केंद्र सरकार द्वारी जारी नोटिफिकेशन के क्रम में शासनादेश निर्गत करने, विद्यालय की सुरक्षा हेतु चौकीदार/विद्यालय सेवक/सुरक्षा सेवक की नियुक्ति करने आदि मांगों को सम्मिलित किया है ।जिलाधिकारी महोदय को ज्ञापन सौपने हेतु उपस्थित हुए शिक्षकों में राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जिला महामंत्री अजयपाल नागर, कोषाध्यक्ष रविन्द्र रौसा, जिला वरिष्ठ उपाध्यक्ष विजय नागर, जिला संगठन मंत्री सविता नागर,  जिला उपाध्यक्ष शिवम दुबे, मनीषा जोशी, मिनाक्षी,  महेंद्र शर्मा, कृपाल भाटी, जिला संयुक्त मंत्री इकरार खान, शेखर कौशिक, रूचि प्रभा चौहान, मुकेश वत्स, पायल सरोहा, जिला सह-संगठन मंत्री जयवीर तंवर, जिला मंत्री इंदु रावत, अर्चना पाण्डेय, अलका कुमार, राघव सिंह, ललिता, जिला प्रचार मंत्री सुरभि शर्मा, जिला लेखाकार शशिबाला, जिला मीडिया प्रभारी जितेन्द्र नागर, तथा सभी विकास क्षेत्रों के ब्लॉक अध्यक्ष, ब्लॉक मंत्री, ब्लॉक उपाध्यक्ष सहित हजारों की संख्या में शिक्षक/शिक्षिकाएं उपस्थित रहे ।