अखिल भारतीय किसान सभा गौतमबुद्धनगर इकाई की जिला कार्यकारिणी की बैठक ग्राम खैरपुर में संपन्न

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण की एसआईटी जांच के नतीजों के विरुद्ध किसान सभा ने सभी किसान एवं राजनैतिक सामाजिक संगठनों से एक होकर लड़ने का किया आव्हान किया है। अखिल भारतीय किसान सभा गौतमबुद्धनगर इकाई की जिला कार्यकारिणी की बैठक हरेंद्र खारी के आवास ग्राम खैरपुर में संपन्न हुई। बैठक में एसआईटी जांच के नतीजों पर चर्चा की गई। जिला कमेटी के संयोजक वीर सिंह नागर ने एसआईटी जांच को पुश्तैनी किसानों के हितों के विरुद्ध बताया, जिसे लेकर क्षेत्र के किसानों में भारी रोष है। किसान सभा के महासचिव हरेंद्र खारी ने कहा कि पुश्तैनी किसानों ने आंदोलन कर अपने पुश्तैनी आबादियों को बचाने के लिए नीति बनवाई थी, वर्तमान सरकार के प्राधिकरण में तैनात अधिकारी किसान विरोधी हैं। उन्होंने जानबूझकर पुश्तैनी किसानों के विरुद्ध एवं बाहरी व्यक्तियों को लीजबैक का लाभ पहुंचाने की कोशिश की है। किसान सभा के प्रवक्ता डा0 रुपेश वर्मा ने कहा कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में तैनात कर्मचारी और अधिकारी एवं सरकार किसान विरोधी है। ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण में भूमि आवंटन घोटाला, हॉर्टिकल्चर घोटाला, टेंडर घोटाला, सीवर घोटाला एवं  अधिकारियों द्वारा अकूत अवैध संपत्ति कमाई गई है। उसकी जांच करने के बजाए पुश्तैनी किसान की आबादियों की जांच किया जाना सरकार के किसान विरोधी चरित्र को उजागर करता है। वरिष्ठ उपाध्यक्ष वीरसेन नागर ने कहा कि किसान सभा सभी किसान संगठनों से एक होकर लड़ने का आह्वान करती है। अध्यक्ष नरेंद्र भाटी ने कहा है कि यदि हमें किसानों के हितों की रक्षा करनी है तो इस तानाशाही पूर्ण रवैया एवं साजिश के विरुद्ध इकट्ठा होना समय की जरूरत है जो किसान संगठन किसानों की एकता के विरुद्ध कार्य करेंगे, उन्हें इतिहास कभी माफ नहीं करेगा। किसान सभा के कार्यकर्ता गांव.गांव जाकर सभी किसानों को इकट्ठा कर परिवार सहित प्राधिकरण पर महापड़ाव डालेंगे। जब तक किसानों की समस्या हल नहीं होगी, तब तक महापड़ाव जारी रहेगा। इस मौके पर सूबेदार ब्रह्मपाल, संदीप भाटी,अजब सिंह नागर, जगबीर नंबरदार,  अजय पाल सिंह भाटी, यतेंद्र मैनेजर,मनोज प्रधान खानपुर, ब्रहम सिंह नागर लुकसर आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण उपस्थित रहे।