विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के अमरपुर जागीर गांव में कूडाघर बनाए जाने के विरोध शुरू हुआ धरना शनिवार को तीसरे दिन भी रहा। यहां ग्रामीण कूडाघर बनाए जाने के विरोध में गत 8 अक्टूबर-2020 से ही अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं। ग्रामीणों का कहना है कि गांव में जहां कूडाघर बनाए जाने की बात कही जा रही है वहां पर शमशान है और कुछ ही दूरी पर सुपरटेक बिल्डिंग सोसायटी है जहां लोग रहते हैं। इसके साथ ही इस स्थान से दनकौर से अमरपुर जागीर, अटाईं मुरादपुर, दादूपुर, इमलिया, पीपलका आदि गांवों की ओर जाने वाला मुख्य रास्ता गुजरता है। दनकौर नगर पंचायत के कूडेघर के लिए यहां पर करीब 10 बीघा जमीन चिन्हित किए जाने की जानकारी मिल रही है। दनकौर नगर पंचायत ग्रेटर नोएडा औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में नही पडता है। दनकौर नगर पंचायत दूसरे प्राधिकरण यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र में आता है। रविंद्र प्रधान ने कहा कि जिस जमीन को कूडाघर बनाने के लिए चिन्हित किया जा रहा है वहां पर उत्तर दिशा में शमशान है और दक्षिण दिशा में सुपरटेक सोसायटी में लोग रहते हैं। इसकी कुछ ही दूरी पर नोएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी और गलगोटिया यूनिवर्सिटी भी हैं। साथ ही दनकौर से अमरपुर समेत कई गांवों के लिए जाने वाला मुख्य रस्ता गुजरता है। यदि यहां पर कूडाघर बनाया जाता है तो चारों तरफ प्रदूषण और गांव अमरपुर जागीर तथा ननुवा का राजपुर गांवो में कई तरह की बीमारियां फैलनी शुरू हो जाएंगी। कूडाघर को यहां से किसी दूसरे स्थान पर स्थानातंरित किया जाए जिससे ग्रामवासी प्रदूषण और बीमारियों आदि से बच सकें। यदि ऐसा नही किया गया तो ग्रामीणवासी आरपार की लडाई लडेंगें और किसी भी कीमत पर यहां पर कूडाघर नही बनाने दिया जाएगा। इस मौके पर रविंद्र प्रधान, अनीस, युसुफ ठेकेदार, पारूल, शकील सैफी, बशीर अली, विक्रम नागर,धीरज मास्टर जी, अतर सिंह, हरिराम, बलराज प्रधान, ओमवीर, सरदा प्रधान, इंद्रराज शर्मा आदि दर्जनों की संख्या मेंं ग्रामीण मौजूद रहे।