प्रपत्र जमा करने के 1 सप्ताह बाद ही हो जाएगी यमुना प्राधिकरण के आवंटियों की लीज/रजिस्ट्री

 


लीज और रजिस्ट्री के लिए सभी प्रपत्र एक ही स्थान पर जमा हो जाएं और आवंटी को किसी दिक्कत का सामना न करने पडे, लीज/ रजिस्ट्री सर्विस सेंटर बनाने का फैसला किया गयाः डा0 अरूणवीर सिंह





मौहम्मद इल्यास/यीडा

यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र के सेक्टर 18, 20 और 22 डी के आवंटियों को लीज कराने के लिए न भटकना पडे और एक ही जगह आवंटी आकर अपने प्रपत्र जमा कर दें एक काउंटर बनाया जाएगा। दरअसल कई बार जब लीज कराने के लिए आवंटी आते हैं तो कई लोगों के झांसे में आ जाते हैं। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने सभी सेवाओं को ऑनलाइन किया हुआ है और साथ ही संबंधित अधिकारियांं को ताकीद किया हुआ है कि सेक्टर-18,20 और 22- डी के आवंटियों की तत्काल लीज कराई जाए। सेक्टर-18 और 20 में ही 21 हजार भूखंड आवांटित किए जा चुके हैं। इस समय सेक्टर-18,20 के साथ ही सेक्टर-22 डी जैसे सेक्टरों के आवंटी और खरीद्दार लीज और रजिस्ट्री के लिए आते हैं। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अधिकारी प्रथम और द्वितीय तल


पर बैठते हैं। जब कि भूतल पर कस्टमर रिलेशन सेल का ऑफिस है और साथ में ही इंडस्ट्री के कुछ अधिकारी भी बैठते हैं। लीज कराने के लिए जब आवंटी आते हैं तो सबसे पहले कस्टमर रिलेशन सेल में टक्कर मारते हैं, फिर जब संबंधित अधिकारियों के यहां पहुंचते हैं। ऐसे में कई बार दलाल किस्म के लोग उन्हें लपक लेते हैं। इस बात की खबर आती रही हैं। लीज और रजिस्ट्री के लिए सभी प्रपत्र एक ही स्थान पर जमा हो जाएं और आवंटी को किसी दिक्कत का सामना न करने पडे लीज/ रजिस्ट्री सर्विस सेंटर बनाने का फैसला किया गया है। यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यापालक अधिकारी डा0 अरूणवीर सिंह ने बताया कि सेक्टर-18 और 20 में 21 हजार भूखंडों में से 14000 हजार की रजिस्ट्री हो चुकी है और इन आवंटियों को कब्जा भी दे दिया गया है। शेष सभी आवंटी लीज करा लें इसके लिए अभियान चलाया जा रहा है और आगामी 31 दिसंबर-2020 तक सभी आवंटियों को मौका दिया गया है कि इस अवधि में तत्काल लीज करा लें उनसे कोई अतिरिक्त शुल्क नही लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि लीज/रजिस्ट्री कराने के लिए आवंटियों को कहीं भटकना न पडे लीज/रजिस्ट्री सर्विस सेंटर बनाने का फैसला लिया गया है, जहां सेक्टर-18,20 और 22 डी आवंटी सभी प्रकार की लीज और लीज/रजिस्ट्री कराने के लिए अपने प्रपत्र जमा करेंगे। प्रपत्र जमा करने के एक सप्ताह के अंदर प्रपत्रों की जांच प्राधिकरण और रजिस्ट्री विभाग द्वारा कर ली जाएगी और फिर लीज/ रजिस्ट्री कराने के लिए सिर्फ एक ही बार रजिस्ट्री कार्यालय आवंटी को जाना होगा। उन्होंने बताया कि लीज/रजिस्ट्री सर्विस सेंटर भूतल पर कस्टमर रिलेशन सेल के बगल में बनाया जाएगा। लीज/रजिस्ट्री सर्विस सेंटर में 4 काउंटर बनाए जाएंगे और जिसका सेक्टरवाइज 1-1 प्रभारी नमित होगा तथा 1-1 नोडल अधिकारी होंगे। इसके साथ ही 3 अधिकारियों को हस्ताक्षर के लिए नमित किया जाएगा इनमें एक हस्ताक्षर कर्ता रजिस्ट्री कार्यालय में मौजूद रहेगा और दो अन्य लीज/रजिस्ट्री सर्विस सेंटर में 4 काउंटर से तालमेल बना कर संबंधित कागजों को अपडेट करेंगे। उन्होंने बताया कि लीज/रजिस्ट्री सर्विस सेंटर से किसी भी आवंटी को बार बार प्राधिकरण कार्यालय के चक्कर काटने की जरूरत नही पडेगी। वैसे यह सभी सुविधाएं पहले से ऑनलाइन संचालित हैं। उन्होंने बताया कि लीज/रजिस्ट्री सर्विस सेंटर का नोडल अधिकारी, विशेष कार्याधिकारी शैलेंद्र भाटिया को बनाया गया है और यह सारा कार्य अपर मुख्य कार्यापालक अधिकारी रविंद्र सिंह की देखरेख में होगा।