करप्शन फी्र इंडिया संगठन ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण क्षेत्र के उन गांवांं की विकास की असली तस्वीर उजागर करने में लगा हुआ है जंहा गांवों को स्मार्ट विलेज का दर्जा दिए जाने के लिए वैसे तो जी तोड कोशिश की जा रही है मगर हकीकत में ये गांव विकास से कोसो दूर हैं।


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
करप्शन फी्र इंडिया संगठन इन दिनांं ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण क्षेत्र के उन गांवांं की विकास की असली तस्वीर उजागर करने में लगा हुआ है जंहा गांवों को स्मार्ट विलेज का दर्जा दिए जाने के लिए वैसे तो जी तोड कोशिश की जा रही है मगर हकीकत में ये गांव विकास से कोसो दूर हैं। कहीं रास्ते टूटे पडे हुए हैं तो कही नालियां ही नही है और कहीं गांव का सारा पानी फैल कर संक्रामक रोगों को आमांत्रित कर रहा है। यदि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गांव लाडपुरा की बात करें तो इन दिनों ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से गांव के मुख्य रास्तों पर कीचड़ एवं जलभराव के कारण लोगों को आने.जाने में भारी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। इस समस्या के समाधान के लिए करप्शन फ्री इंडिया संगठन कोर कमेटी के सदस्य संजय भैया के नेतृत्व में गांव का दौरा कर प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन को संबोधित पत्र भेजकर समस्या के समाधान की मांग की गई है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय ने बताया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अंतर्गत आने वाले गांव लडपुरा में कुछ वर्ष पूर्व भी आरसीसी एवं नाली का निर्माण कार्य हुआ था, लेकिन प्राधिकरण के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से गांव में कई जगह सड़क का लेवल ऊंचा नीचा है एवं कई रास्तों के साथ नाली का निर्माण नहीं हो पाया, जिस कारण गांव के मुख्य रास्तों में कीचड़ एवं जलभराव से लोगों का जीवन दुश्वार हो चुका है। ग्रामीणों को आने.जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि नाली नहीं होने के कारण गंदा पानी मुख्य रास्तों पर जमा हो जाता है, वही ग्रामीणों ने जगह.जगह गड्ढे खुदवा कर गांव के गंदे पानी का जलभराव किया है, लेकिन इन गड्ढों में भी कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है, कोई जानवर या बच्चा गिरने से बड़ी दुर्घटना घटित हो सकती है। चौधरी प्रवीण भारतीय ने कहा कि गांव के मुख्य रास्तों से बुजुर्गों एवं बच्चों आए दिन फिसल कर गिर रहे हैं। कई ग्रामीणों को गंभीर चोटें भी आई हैं। उन्होंने कहा एक तरफ तो प्राधिकरण के अधिकारी स्मार्ट विलेज का सपना दिखा रहे हैं, वहीं दूसरी तरफ प्राधिकरण के अधीन आने वाले गांवों की हालत विकास के मामले में खस्ता है। इस दौरान बलराज हूण, चौधरी धर्मवीर सिंह, चौधरी शिवराज सिंह, ऋषि भाटी, पीतम सिंह भाटी, लव सिंह, संजय भाटी, रवि भाटी, संदीप भाटी, श्री राम भाटी, सचिन, मांगेराम सिंह, धोनी, महेंद्र सिंह, धामी भाटी आदि पदाधिकारीगण और ग्रामीण उपस्थित रहे।

>