कानून के हर पहलू को ध्यान में रखते हुए अभियोजकों को पूर्ण निष्ठा, ईमानदारी और बिना किसी पूर्वाग्रह के साथ आपराधिक विचारण का संचालन करना चाहिएः निकम

विजन लाइव/उत्तर प्रदेश
मेरठ मण्डल के अपरनिदेशक अभियोजन चन्द्र शेखर त्रिपाठी की अध्यक्षता में आपराधिक विधि पर एक राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन किया गया। इसमें उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, गुजरात, बिहार और राजस्थान के अभियोजन अधिकारियों के अतिरिक्त आगरा, झांसी, कानपुर, बनारस और लखनऊ मण्डल के अपर निदेशक अभियोजन तथा 0प्र0 एवं उत्तराखंड सरकार के अपरनिदेशक विधि ने भी प्रतिभाग किया। गौतमबुद्धनगर के एस0पी00 छविरंजन द्विवेदी ने बताया कि वेबीनार के मुख्य संयोजक ललित मुदगल एस0पी00 बुलन्दशहर के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश अभियोजन सेवा के कुशल अधिकारियों की एक टीम द्वारा प्रत्येक शनिवार को अभियोजन की गुणवत्ता के विकास हेतु बेवीनार का आयोजन किया जा रहा है और उसमें कानून के विद्वानों को आमंत्रित करके कानून की बारीकियां सीखी जाती हैं। इस बार बेबीनार में जाने माने मशहूर वकील उज्जवल निकम ने प्रतिभाग किया। पदमश्री पुरस्कार विजेता उज्जवल निकम ने कानून की पाठशाला में बताया कि कानून के हर पहलू को ध्यान में रखते हुए अभियोजकों को पूर्ण निष्ठा, ईमानदारी और बिना किसी पूर्वाग्रह के साहस के साथ आपराधिक विचारण का संचालन करना चाहिए। इससे पूर्व श्री निकम द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित 0प्र0 अभियोजन सेवा के 05 उन वरिष्ठ अधिकारियों को शुभकामनाएं भी दीं जो इसी माह सेवानिवृत हो रहे हैं। कार्यक्रम के प्रारंभ में श्री निकम का परिचय अत्यन्त प्रभावी ढंग से गाजियाबाद की अभियोजन अधिकारी श्रीमती शैली भारद्वाज द्वारा दिया गया। अन्त में सभी का धन्यवाद ज्ञापन मेरठ जनपद के संयुक्त निदेशक अभियोजन जे0डी0 मिश्रा ने किया।