विजन लाइव/नई दिल्ली
उत्तर भारत के ज्यादातर हिस्सों को इन अगले दो दिनों में मानसून भिगो सकता है। हालांकि महीने के आखिर तक मानसून उत्तर.पश्चिम राज्यों में पहुंचता है, लेकिन इस बार पाकिस्तान से लेकर बंगाल की खाड़ी तक बनी टर्फ और दक्षिणी उत्तर प्रदेश के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन ने मानसून को गति प्रदान कर दी है। इस बीच दिल्ली समेत उत्तर भारत के कई इलाकों में रविवार को प्री मानसून बारिश दर्ज की गई। मौसम विभाग ने कहा कि मानसून अभी कांधला, अहमदाबाद, इंदौर, खजुराहो, फतेहपुर होते हुए बहराइच तक पहुंच गया है। इसने बिहार, उप्र तथा उत्तराखंड के कई इलाकों को पहले ही कवर कर लिया है। मौसम विभाग ने कहा कि मानसून में प्रगति के हालात बने हुए हैं। मौसम विभाग का अनुमान है कि इस बार 22 और 23 जून को मानसून मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड के ज्यादातर हिस्सों को भिगोते हुए दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़ और हिमाचल के कई क्षेत्रों को कवर कर लेगा। दिल्ली में मानसून के पहंचने की तारीख 27 जून है, लेकिन इस बार यह कहीं जल्दी दस्तक दे देगा। इसी प्रकार आगरा में मानसून के पहुंचने की तिथि 30 जून है, लेकिन वहां भी अगले दो दिनों के भीतर मानसून बरस सकता है। मौसम विभाग की मानें तो 24 एवं 25 जून को मानसून देश के ज्यादातर हिस्सों को कवर कर लेगा और सप्ताह के आखिर तक मानसून पूरे देश में छा जाएगाए जो सामान्य तिथि से एक सप्ताह पहले होगा। जुलाई के पहले सप्ताह में मानसून राजस्थान के सीमावर्ती हिस्सों में दस्तक देगा। उत्तर भारत बीते एक सप्ताह से भीषण गर्मी की चपेट में था, लेकिन रविवार की बारिश ने थोड़ी राहत दी है। मौसम विभाग ने इस बार देश में सामान्य बारिश का पूर्वानुमान जारी किया है।