गुर्जर समाज के लोगों ने हमले की पूरी जानकारी ली और इस मामले की आवाज बुलंद करते हुए इंसाफ दिलाने का संकल्प जताया


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर
 आईएएस रानी नागर और उनकी बहन पर हुए जान लेवा हमले की खबर पाकर गुर्जर समाज के लोग गाजियाबाद मिलने के लिए पहुंच गए हैं। समाज के लोगों ने हमले की पूरी जानकारी ली और इस मामले की आवाज बुलंद करते हुए इंसाफ दिलाने का संकल्प जताया। इस मौके पर जतन प्रधान और आलोक नागर ने बताया कि कल दिनांक 30 मई की रात को आईएएस रानी नागर पर हुए हमले के संबंध में आज क्षेत्र के सामाजिक लोग उनके निवास गाजियाबाद पर मिलने पहुंचे और उनके साथ हुए हमले के बारे में जानकारी ली। इस संबंध में आईएएस रानी नागर ने कहा कि कल रात 9.30 बजे के करीब मैं और मेरी बहन रीमा नागर अपने मकान के बाहर वाकिंग कर रहे थे, तभी एक व्यक्ति रोड लेकर आता है और उसने मेरे ऊपर हमला किया। मैंने तो झुक कर अपना बचाव किया, लेकिन मेरी बहन रीमा नागर उसकी चपेट में गई और मेरी बहन को गंभीर चोटें आई हैं। यह हमला साजिश के तहत किया जा रहा है, पिछले काफी समय से हमारे खिलाफ साजिश रची जा रही है हम दोनों बहन डरे हुए हैं। जतन प्रधान और आलोक नागर ने बताया कि रीना नागर पिछले 2 साल से हर राजनीतिक पार्टी के नेता के पास पहुंची। मगर किसी ने उनकी मद्द नहीं की। हर नेता की तरफ से उन्हें निराशा हाथ लगी। आखिर परेशान होकर मजबूरी में आईएएस पद से इस्तीफा देना पड़ा और अपनी जान बचाने के खातिर अपने निवास गाजियाबाद गई। किंतु अब इस मामले की आवाज बंुलद की जाएगी और बहन आईएएस रानी नागर और बहन रीमा नागर को इंसाफ दिलाया जाएगा। इस मौके पर सतवीर सिराधना गुर्जर, बृजेश भाटी, सुरेंद्र सिलारपुर, कृष्ण नागर, कर्मवीर गुर्जर, राजेंद्र सिंह एडवोकेट आदि शुभचिंतकगण मौजूद रहे।