कोरोना महामारी में लॉकडाउन के चलते हुए ईद की नमाज घरों में ही पढी

विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर
दुनिया में कोरोना महामारी के चलते हुए ईदुल फितर का पवित्र त्यौहार भी आया। इस बार लोगों ने ईदगाह और मस्जिदों में जाकर घरों में ही यह विशेष नमाज अदा की। रमजान के महीने में भी सरकार के दिशा निर्देशों के अनुसार लोग मस्जिदों में जाकर घरों में ही नमाज अदा करते रहे। जुमा की नमाज और जुमा अलविदा की नमाज भी घरों में अदा की गई। इसी प्रकार ईदुल फितर की नमाज के लिए भी सरकार और उलेमाएं दीन की ओर से यही अपील की थी कि लोग ईदुल फितर की नमाज के लिए मस्जिदों और ईदगाह में जाएं और घरों में रह कर ही सोशयल डिस्टैंसिंग का पालन करते हुए नमाज अदा कर लें। हुआ भी ऐसा ही लोगांें ने घरों में रह कर ईद की नमाज अदा की और साथ ही इस मौके पर कोरोना जैसी महामारी के खात्मे के लिए और मुल्क पूरे आलम को बचाने के लिए दुवाओं के लिए हाथ उठ खडे हुए। वहीं नोएडा में लोगों ने अपने.अपने घरों पर ही शुकराने की नमाज अदा की। नोएडा के सेक्टर आठ स्थित जामा मस्जिद के चारों तरफ सुबह सन्नाटा पसरा हुआ था। सफाई कर्मी झाड़ू लगा रहे थेए और स्वास्थ्य कर्मी जगह.जगह सेनेटाइजेशन का काम कर रहे थे। पुलिस के आला अधिकारी कानून व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए भारी संख्या में तैनात थे। पिछले साल के विपरीत इस साल मस्जिद का प्रांगण बिल्कुल खाली था। जहां पिछले साल तक हजारों की संख्या में लोग नमाज अदा करते थे और एक दूसरे के गले मिल कर ईद की मुबारकबाद देते थे। इस बार वहां लगभग सन्नाटा रहा। सेक्टर आठ के जामा मस्जिद के इमाम मुफ्ती मोहम्मद रशीद कसमी ने कहा कि कोविड.19 बीमारी की वजह से हमने मुस्लिम समाज के लोगों से अपील की थी कि वे सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन करें। सामाजिक दूरी का पालन करते हुएए अपने घरों में ही नमाज अदा करें।् उन्होंने बताया कि लोगों ने अपील का पालन किया तथा ईद के त्यौहार को सादगी भाईचारे के साथ मनाया।

>