जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने लाॅकडाउन के चलते हुए निकाला प्रवासी मजदूरों की मद्द का अनोखा तरीका

विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा
लाॅकाडाउन के चलते हुए विगत कई दिनों से देश के विभिन्न प्रांतों से श्रमिक, मजदूर हरियाणा बॉर्डर को पार कर उत्तर प्रदेश की सीमा में आकर पैदल ही रास्तों से चलकर अपने गंतव्य तक जा रहे हैं, जिसमें आए दिन दुर्घटनाओं की वजह से कई मजदूरों की मौत भी हो चुकी है। इसलिए उन प्रवासियों को कोई दिक्कत ना हो, इसके लिए जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने अपनी विधानसभा के सभी सीमावर्ती गांवों में ग्रामीणों से कहकर रहे प्रवासियों को भोजन आदि की व्यवस्था किए जाने तथा उनकी सूची बनाकर प्रेषित किए जाने हेतु कहा है। जब लोग खाना इत्यादि खा लेते हैं और स्नान आदि से निवृत हो जाते हैं तब उन्हें बसों के माध्यम से उनके गंतव्य तक पहुंचाया जा रहा है। इसी प्रकार दिनांक 17 मई 2020 को ग्राम कानीगढ़ी में हरियाणा सीमा को पार कर आए लोग, जिनकी तादाद 100 से 150 के बीच थी। गांव वालों ने विधायक जेवर धीरेन्द्र सिंह के निर्देश पर, वहीं गांव में रोककर पूरी सुविधाएं दी और उन्हें प्यार से भोजन कराया तथा विधायक को सूचना दी। विधायक ने परिवहन विभाग से बात कर उनके लिए 2 बसें मंगवाई। ऐसे 67 लोग थे, जिन्हें बिहार और झारखंड जाना था, उन सभी को दादरी रेलवे स्टेशन तक भिजवाने की व्यवस्था की गई तथा बाकी बचे हुए लोगों को जेवर स्थित प्रज्ञान स्कूल में इंतजार करने के लिए कहा गया है तथा शाम तक उन्हें भी बसों के माध्यम से जनपद फर्रुखाबाद, औरैया, उन्नाव, कानपुर देहात, चंदौली, बनारस, आजमगढ़, गाजीपुर आदि जनपदों तक छोड़ा जाएगा। जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह ने सभी सीमावर्ती गांवों में अपील करते हुए कहा कि जेवर विधानसभा से कोई व्यक्ति भूखा चला जाए उन्हें वही रोक कर, उनके रुकने और भोजन आदि की व्यवस्था की जाए तथा मेरे कार्यालय को अवगत कराया जाए, जिससे उन्हें गंतव्य तक पहुंचाने के लिए ट्रेन अथवा बसों की व्यवस्था की जा सके। इस संबंध में जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर से बिहार झारखंड के लोगों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिए मद्द ली है। विधायक धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी ने शाम को एक स्पेशल ट्रेन के माध्यम से उन लोगों को उनके घर तक भिजवाए जाने हेतु आश्वस्त किया है। इसी प्रकार परी चैक पुलिस चैकी के समीप एनआरआई सिटी के सामने स्थित झाड़े वाले मंदिर में भी सैकड़ों प्रवासी लोग रुके हुए हैं, जिनके विषय में जिलाधिकारी के माध्यम से उन्हें उनके गंतव्य तक पहुंचाए जाने के लिए बसों की व्यवस्था करा दी गई है।