विजन लाइव/ मेरठ 
चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के सूक्ष्म जीव विज्ञान विभाग द्वारा , कुलपति प्रोफेसर संगीता शुक्ला के निर्देशन में टीबी के मरीजों को पौष्टिक आहार प्रदान किया गया। विभाग के सहायक आचार्य डॉ लक्ष्मण नागर ने बताया कि सूक्ष्म जीव विज्ञान विभाग द्वारा टीवी के बारह मरीजों को गोद लिया गया है इसी के तत्वधान में विश्वविद्यालय की तरफ से उनको पौष्टिक आहार प्रदान किया जाता है। टीबी मरीजों को मिलने वाले पौष्टिक आहार में ऐसी खाद्य सामग्री दी जाती है जिसमें उन्हें पर्याप्त मात्रा में विटामिन व प्रोटीन प्राप्त हो सके। विभाग के सभी शिक्षक लगातार रोगों के परिवार वालों के संपर्क में रहते है की रोगियो कोई समस्या तो नहीं आ रही है। टीबी एक संक्रामक रोग है, जो माइक्रो बैक्टीरियम ट्यूबलरकुलोसिस नामक जीवाणु से फैलता है। इसके मूल लक्षणों में खांसी का कई दिनों तक रहना , बुखार बना रहना, थकान महसूस होना, कमजोरी या सीने में दर्द का आभास होना जैसे लक्षण है। सरकार ने इस रोग के रोकथाम के लिए प्रत्येक जिले में डाट्स की मुफ्त दवा और जांच की सुविधा दी है। टीबी के जीवाणु वायु द्वारा भी फैलते हैं। रोगियों ने पौष्टिक आहार के लिए विश्व विद्यालय परिवार एवं सरकार का धन्यवाद दिया। इस मौके पर विभाग के सभी शिक्षक मौजूद रहे।