समिति में चुनाव को लेकर उठा पटक इस कदर चल रही है कि गुंटबाजी पूरी तरह से सदन से लेकर उतर आई है, सडक पर

 


चुनाव की तरीखों का ऐलान हो चुका है मगर वहीं दूसरा गुट अनियतिताओं को लेकर डीएम से लेकर कमिश्नर तक के दरबार में जा पहुंचा

 


चुनाव क्या कि नियत तिथि 19 सितंबर-2021 को ही होंगे या फिर यह मामला दूसरा मोड ले चुका है अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी? आखिर यह जुबानी जंग और आरोप और प्रत्यारोपों का सिलसिला किस प्रकार चल रहा है ’’विजन लाइव’’ डिजिटल मीडिया संबंधित पक्ष के लोगों से आपको को रूबरू करवाने जा रहा है आइए एक नजर डालते हैं

 


मौहम्मद इल्यास-’’दनकौरी’’/गौतमबुद्धनगर

श्री द्रोण गौशाला समिति (पंजीकृत) दनकौर में चुनाव को लेकर वर्चस्व की जंग शुरू हो चुकी है। इस बार समिति में चुनाव को लेकर उठा पटक इस कदर चल रही है कि गुंटबाजी पूरी तरह से सदन से लेकर सडक पर उतर आई है। चुनाव की तरीखों का ऐलान हो चुका है मगर वहीं दूसरा गुट अनियतिताओं को लेकर डीएम से लेकर कमिश्नर तक के दरबार में पहुंच चुका है। दनकौर में बाबा श्री गुरू द्रोणचार्य मंदिर के साथ ही श्री द्रोण गौशाला का इतिहास भी वर्षो से जुडा हुआ है और चुनाव प्रक्रिया भी ज्यादातर सदन में संपन्न होती रही है किंतु इस बार ऐसा नही है, अब यह श्री द्रोण गौशाला समिति का चुनाव एक तरह से राजनीतिक का अखाडा बन चुका हैं। यही कारण है कि क्षेत्रीय विधायक और सासंद तथा किसान यूनियनों से संबंधित खेमे के लोगों की जुगलबंदी साफ दिखाई पड रही है। एक तरफ श्री द्रोण गौशाला समिति के वतर्मान अध्यक्ष राकेश कुमार गर्ग, प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल का खेमा है वहीं दूसरी ओर पूर्व नगर चेयरमैन महीपाल गर्ग के खेमें के बीच वर्चस्व की खुली जंग चल रही हैं। रजनीकांत अग्रवाल का खेमा फिलहाल सत्ता में है और उन्हें किसान यूनियनों के एक गुट का वरदहस्त मिला है। वहीं दूसरी ओर महीपाल गर्ग के खेमें को श्री द्रोण गौशाला समिति के पूर्व प्रंबधक नंदकिशोर गर्ग, पूर्व अध्यक्ष स्वं मनमोहन चौधरी के खेमों का भी समर्थन मिलता दिखाई दे रहा है। चुनाव क्या कि नियत तिथि 19 सितंबर-2021 को ही होंगे या फिर यह मामला दूसरा मोड ले चुका है अभी कुछ कहना जल्दबाजी होगी? आखिर यह जुबानी जंग और आरोप और प्रत्यारोपों का सिलसिला किस प्रकार चल रहा है ’’विजन लाइव’’ डिजिटल मीडिया संबंधित पक्ष के लोगों से आपको को रूबरू करवाने जा रहा है आइए एक नजर डालते हैंः-

 


प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल के संदीप कुमार जैन कभी राईट हैंड माने जाते थे, मगर अब दूसरे खेमें की कमान एक तरह से है, संदीप कुमार जैन के हाथों में पहुंची


 

डिप्टी रजिस्ट्रार ने चुनाव की प्रक्रिया पर रोक लगाते हुए गौशाला के गोवंशों पर 5 सालों में होने वाले खर्च आदि समेत कई बिंदुओं पर विस्तृत रिपोर्ट मांगीः संदीप कुमार जैन


 

संदीप कुमार जैन को श्री द्रोण गौशाला समिति के प्रंबध्ांक रजनीकांत अग्रवाल ने सत्ता मिलते ही एसडीआरवी कॉन्वेंट स्कूल दनकौर का संचालक नियुक्त कराया था। इससे पहले नंदकिशोर गर्ग की सत्ता में सुशील कुमार बाबा एसडीआरवी कॉन्वेंट स्कूल दनकौर के ंसंचालक नियुक्त हुआ करते थे। सूत्रों की मानें तो एसडीआरवी कॉन्वेंट स्कूल श्री द्रोण गौशाला समिति की उपसंस्था हैं और जिसका कार्य संचालन रमेशचंद विद्यावती चैरिटेबल  ट्रस्ट तंबाकू वाले को दिया गया था। सूत्रों की मानें तो पूर्व प्रबंधक नंद किशोर गर्ग की किसी बात लेकर रमेशचंद विद्यावती चैरिटेबल ट्रस्ट तंबाकू वालों के कर्ताधर्ताओं से खटक गई और उन्होंने अक्टूबर-2018 को पद से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद श्री द्रोण गौशाला समिति में प्रंबधक पद पर रजनीकांत अग्रवाल की ताजपोशी की गई। रजनीकांत अग्रवाल पूर्व पं्रबधक स्व0 वेदप्रकाश अग्रवाल के बेटे हैं और राजनीतिक गुणभाग में तब से ही तेज माने जाते हैं। प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल के संदीप कुमार जैन कभी राईट हैंड माने जाते थे मगर अब दूसरे खेमें की कमान एक तरह से संदीप कुमार जैन के हाथों में ही है। ’’विजन लाइव’’ ने एसडीआरवी कॉन्वेंट स्कूल दनकौर के संचालक रहे संदीप कुमार जैन से बातचीत की तो उन्होंने बताया कि श्री द्रोण गौशाला समिति दनकौर के हो रहे चुनाव को विधान के अनुसार ना कराने, हिसाब किताब मे भारी अनियमितताओं के चलते सब रजिस्ट्रार मेरठ ने चुनाव पर रोक लगाते हुए जांच के निर्देश हैं। उन्होंने श्री द्रोण गौशाला समिति के अध्यक्ष राकेश कुमार गर्ग ने कॉन्वेंट स्कूल में चहेते टीचरों की नियुक्ति गैर कानूनी तरीके से करवानी चाही और जब उसका विरोध किया तो समिति प्रंबधक ने उनका इस्तीफा धोखे में रख कर ले लिया था, जो सही मायने में अभी बहुमत के साथ कार्यकारणी सदस्यों ने मंजूर ही नही किया है और वह अभी भी एसडीआरवी कॉन्वेंट स्कूल दनकौर के संचालक हैं। उन्होंने बताया कि श्री द्रोण गौशाला समिति के 19 सितंबर को होने वाले चुनाव पर डिप्टी रजिस्ट्रार मेरठ द्वारा रोक लगा दी गई है, शिकायतकर्ता संदीप कुमार जैन,दीपक कुमार वर्मा,महिपाल गर्ग एवं भारतीय किसान यूनियन के नेता अनित कसाना एवं कृष्ण भाटी के शिकायत पत्र के आधार पर सब रजिस्टार मेरठ ने श्री द्रोण गौशाला समिति के अध्यक्ष राकेश कुमार गर्ग एवं प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल को स्पष्ट आदेश दिया है कि आप मासिक रूप से गायों के रखरखाव की व्यवस्था एवं चारे पर हो रहे खर्च की जानकारी देना, हिसाब किताब में अनियमितता एंव बिना विधान के अनुरूप कार्य करना आदि। संदीप जैन ने बताया डिप्टी रजिस्ट्रार ने पत्र का संज्ञान लेकर चुनाव की प्रक्रिया पर रोक लगा दी है और मौजूदा अध्यक्ष को 5 सितंबर तक चुनाव प्रक्रिया संबंधित कोई भी कार्य नहीं करने को कहा है। गौशाला में मौजूद गोवंश पर पिछले 5 सालों में होने वाले खर्च आदि समेत कई बिंदुओं पर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है,साथ ही सक्षम अधिकारी को नियुक्त कर जांच के भी निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही स्वंय उन्होंने 458 आजीवन सदस्यों की सदस्यता निरस्त करने के मामले की भी शिकायत की है। इस शिकायत पत्र पर दिनांक 5 सितंबर 2021 तक स्पष्टीकरण देने की बात कही गई है। जब तक चुनाव की प्रक्रिया पूरी तरह स्थगित रहेगी। इसके लिए जिलाधिकारी, पुलिस कमिश्नर एवं शिकायतकर्ता स्वंय ( संदीप कुमार जैन ) को भी प्रतिलिपि जारी की गई है।


श्री द्रोण गौशाला समिति के अध्यक्ष राकेश कुमार गर्ग ने संदीप जैन द्वारा लगाए गए सभी आरोपों को सिरे से नकारा


 श्री द्रोण गौशाला समिति के अध्यक्ष राकेश कुमार गर्ग, पूर्व अध्यक्ष स्व0 मनमोहन चौधरी के राइट हैंड रह चुके हैं। इस बार राकेश कुमार गर्ग श्री द्रोण गौशाला समिति में अध्यक्ष पद पर काबिज है। इसके साथ ही राकेश कुमार गर्ग, विशबंर दयाल राममूर्ति देवी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज के प्रंबधक भी है। श्री द्रोण गौशाला समिति के अध्यक्ष राकेश कुमार गर्ग ने संदीप कुमार जैन द्वारा लगाए गए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने ’’विजन लाइव’’ डिजिटल को बताया कि इन आरोपों में कोई भी दम नही है और बेबुनियाद तथा निराधार हैं। यदि उन्हें टीचरों की नियुक्ति ही करवानी होती तो सबसे पहले विशबंर दयाल राममूर्ति देवी सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज दनकौर में प्रयास कर सकते थे। मगर  ऐसा बिल्कुल नही है और यह सब सस्ते में सुर्खियों में बने रहने का तरीका है, साथ ही इस तरह के आरोप लगाए जाना औछी मानसिकता का परिचय देना है।


श्री द्रोण गौशाला के प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल का पक्ष ’’विजन लाइव’’ डिजिटल मीडिया जल्द ही प्रस्तुत करेंगा


 

श्री द्रोण गौशाला समिति के चुनाव और उठा पटक तथा दूसरे खेमे द्वारा लगाए गए अनियमितताओं के आरोपों तथा कार्यकाल में किए गए कार्यो और उपलब्धियों समेत तमाम मुद्दों पर भी जैसी ही श्री द्रोण गौशाला के प्रबंधक रजनीकांत अग्रवाल से औपचारिक मुलकात संभव हो सकेगी, बातचीत जल्द ही प्रस्तुत की जाएगी।