ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर चल रहा किसान महापड़ाव आज 13 वें दिन भी जारी रहा

 


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

किसान अधिकार युवा रोजगार आंदोलन के आह्वान पर डी.एम.आई.सी. परियोजना से प्रभावित हो चुके सैकड़ों गावों के किसानों को नए भूमि अधिग्रहण कानून के सभी लाभ दिए जाने की मांग को लेकर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर चल रहा किसान महापड़ाव आज 13 वें दिन भी जारी रहा। आज आंदोलन को समर्थन देने के लिए दिल्ली से आप विधायक मदन लाल पहुंचे। उधर 3 फरवरी को धरना स्थल पर होने वाली महापंचायत को देखते हुए ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने किसानों को 6 वें दौर की वार्ता के लिए बुलाया, जिसमें ए.सी.ई.ओ. स्तर के अधिकारी ही मौजूद रहे। एसीईओ के. के. गुप्त ने बताया कि हमने किसानों की मांगों को  शासन को भेजा हुआ है लेकिन अभी तक जवाब नहीं आया है। किसानों इससे संतुष्ट नहीं हुए। किसान नेता सुनील फौजी एडवोकेट ने आरोप लगाया कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण और प्रशाशन के अधिकारी किसानों की मांगों को लेकर गंभीर नहीं हैं अब तक की 6 वार्ताओं में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण सी.ई.ओ. और डीएम एक साथ समस्या समाधान करने के लिए नहीं आए हैं, आगे से इन दोनों अधिकारियों की मौजूदगी के बगैर कोई वार्ता नहीं करेंगे। किसानों ने सभी क्षेत्रवासियों से अपील की है कि 3 फरवरी को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण पर होने वाली महापंचायत को सफल बनाने के लिए अधिक से अधिक किसान, महिलाएं और युवा 10 बजे प्राधिकरण जरूर पहुंचें। किसानों ने चेतावनी दी है कि यदि 3 फरवरी तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है तो व्यापक आंदोलन शुरू किया जाएगा। इस वार्ता में सभी प्रभावित गांवों से 31 प्रतिनिधि शामिल रहे।