घटना में प्रयुक्त लाइसेंसी पिस्टल भी बरामद की है और लाइसेंस निरस्त्रीकरण की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जा रही हैः एडीशनल डीसीपी

 



मौहम्मद इल्यास/गौतमबुद्धनगर

ऊंची दनकौर गांव में जमीन के विवाद में रविवार को तोड़फोड़ और फायरिंग करने के आरोप में कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन के पूर्व जिला अध्यक्ष सहित तीन लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पुलिस ने घटना में प्रयुक्त लाइसेंसी पिस्टल भी बरामद की है। गौरतलब है कि ऊंची दनकौर में बाबा शाह फिरोज चिश्ती की दरगाह के पास भूमि पर लंबे अरसे से विवाद चला रहा है। बताया गया है कि इस भूमि पर पहले 56 अनुसूचित जाति जन जाति के लोगों के पट्टे काट दिए गए थे। शासन स्तर से इन पट्टों पर सवाल खडा हुआ और फिर संबंधित पक्षों का यह मामला कोर्ट में चला गया। पिछले तीन दिन से इस भूमि पर कब्जे को लेकर दोनों पक्षों के लोगों में तनातनी चली रही थी। शनिवार को इसी मामले को लेकर खूनी संघर्ष हो गया। एक पक्ष के लोगों ने अपने साथियों सहित मिलकर लाठी.डंडों से दूसरे पक्ष पर हमला कर फायरिंग कर दी। फिर दूसरे पक्ष के लोगों ने भी जमकर तोड़फोड़ और मारपीट की। सूचना पर ईकोटेक और दनकौर पुलिस मौके पर पहुंची और स्थिति को जैसे.तैसे काबू में किया था। इसमें एक पक्ष के अंकित नागर की रिपोर्ट पर गौतमबुद्धनगर कलेक्ट्रेट बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष गौरव नागर समेत छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। घटना में गौरव नागर पर लाइसेंसी पिस्टल से फायरिंग करने का आरोप लगा था। पुलिस ने पूर्व बार अध्यक्ष गौरव नागर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। एडीशनल डीसीपी विशाल पांडेय का कहना है कि पुलिस ने घटना में प्रयुक्त लाइसेंसी पिस्टल भी बरामद की है। लाइसेंस निरस्त्रीकरण की रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को भेजी जा रही है।