64.07 प्रतिशत अतिरिक्त मुआवजा एवं 10 प्रतिशत आवासीय भूखंड जल्द से जल्द  दिए जाएंः चौधरी महेश कसाना

 


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

भारतीय किसान यूनियन अखंड द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी महेश कसाना के नेतृत्व में यमुना प्राधिकरण एवं जेपी ग्रुप द्वारा किसानों की समस्याओं को हल करने के लिए जेवर टोल प्लाजा पर भारी संख्या में किसानों के साथ धरना प्रदर्शन किया एवं मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश के नाम एक ज्ञापन सौंपा। धरना प्रदर्शन की अध्यक्षता जसवीर त्यागी एवं मंच संचालन जितेंद्र चौधरी द्वारा किया गया। ज्ञापन में अवगत कराया गया है कि किसानों की यमुना प्राधिकरण सभी किसानों को हाई कोर्ट के आदेशानुसार 64.07 प्रतिशत अतिरिक्त मुआवजा एवं 10 प्रतिशत आवासीय भूखंड जल्द से जल्द  दिए जाए और गांव की आबादी का निस्तारण करें। यमुना प्राधिकरण एवं जेपी ग्रुप द्वारा किसानों एवं गरीबों  के लिए शिक्षा संस्थान एवं चिकित्सालयो का निर्माण कराएं, जिससे किसानों एवं गरीबों को उनका लाभ मिले। सभी गांवों को शहरों से जोड़ने के लिए सीधी सड़को का निर्माण कराया जाए। प्राधिकरण गांवो में किसानों गरीबों के बच्चो  को खेल का मैदान और कोचिंग सेंटर बनाए जिससे किसानों के बच्चों को हुनर और रोजगार मिल सके, यमुना प्राधिकरण सभी शिक्षण संस्थान स्कूल हॉस्पिटल एवं कंपनियों में गरीब किसानों के बच्चों को योगिता के अनुसार 50 प्रतिशत किसान कोटा दें जिससे किसानों के बच्चों का जीवन यापन हा,े प्राधिकरण गांव के लिए यातायात की सुविधा उपलब्ध कराएं जिससे गरीब किसान और मजदूर रोजगार के लिए बड़े शहरों तक जा सकें, प्राधिकरण गरीब एवं मजदूरों को निशुल्क आवास उपलब्ध कराएं,यमुना प्राधिकरण किसानों को इंडस्ट्री एवं कमर्शियल प्लॉट छूट के आधार पर दे जिससे आजीविका के साधन किसानों को भी मिल सकें, प्राधिकरण ग्रीन बेल्ट एवं पार्को मे फलदार एवं ज्यादा ऑक्सीजन देने वाले देशी वृक्ष लगाएं जिसे प्रकृति जीवो और पक्षियो को फल और लोगों को स्वच्छ हवा मिल सके, सभी किसानों को टोल पर आईडी के आधार पर निकाला जाए, दो पहिया वाहनो को निशुल्क निकाला जाए, किसानों के टैक्टर एवं कृषि उपकरण को टोल फ्री किया जाए, दनकौर एवं जेवर छोटे टोल पर लोगों को निशुल्क निकाला जाए, सभी मीडिया कर्मियों को टोल फ्री किया जाए, यमुना एक्सप्रेस वे  जीरो पॉइंट पर बैठने के लिए स्थान एवं बस स्टॉप का निर्माण कराया जाए जिससे  दुरदराज के यात्री आराम से बैठ जाएं एवं बीच.बीच में दनकौर एवं जेवर पर भी बस स्टॉप बनाए जाएं जो जनहित में आवश्यक है, यमुना एक्सप्रेस वे के दोनों तरफ सर्विस रोड अधूरी है, उसका जेवर तक निर्माण कराया जाए, जहां तक सर्विस रोड बनी है, वहां तक कटीली झाड़ियों को साफ कराया जाए एवं सर्विस रोड की मरम्मत कराकर ठीक किया जाए जिससे लोगों को सर्विस रोड का लाभ मिल सके, सभी किसान संगठनो के कार्यकर्ताओं को संगठनों द्वारा दिए आईडी कार्ड से टोल फ्री निकाला जाए, जेपी ग्रुप द्वारा संचालित संस्थानों स्कूलों में किसानों के बच्चों को किसान कोटे के तहत शुल्क में निर्धारित छूट दी जाए जो अभी तक लागू नहीं हैं उसे निर्धारित कर लागू किया जाए जिससे गरीब किसान के बच्चे शिक्षा पा सके, यमुना एक्सप्रेस वे पर जेवर बुलंदशहर मार्ग एवं सलारपुर दनकौर मार्ग जैसी जगह अंडर पास मार्गो के पास यात्रियों को एक्सप्रेस वे पर चढ़ने एवं उतरने के लिए सीढ़ियों का निर्माण कराया जाए जिससे लोगों को एक्सप्रेस वे पर जाने के लिए चढ़ते उतरते समय दुर्घटना ना हो इन जगहो पर लोगों को चोट लग कर दुर्घटनाएं हो जाती हैं अतः सीढ़ियों का निर्माण जनहित मे अति आवश्यक है। इस मौके पर पंचायत में धरना स्थल पर यमुना प्राधिकरण के ओएसडी महराम सिंह एवं जेपी ग्रुप के इंचार्ज चौधरी ईश्वर सिंह द्वारा किसानों की समस्याओं को सुना और जल्द ही निस्तारण करने का आश्वासन किसानों को दिया गया। इस मौके पर भारतीय किसान यूनियन अखंड के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी महेश कसाना, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य सुरेश रावल, राष्ट्रीय महासचिव सचिन त्यागी, प्रदेश महासचिव पवन तेवतिया, गोपी भाटी, ओमपाल, विजय सिंह रावल, अर्जुन योगी, धर्मेंद्र फागन, अनिल कसाना, सुनील भाटी, जॉनी चौहान, राहुल शर्मा, हरी शर्मा, अशोक तौंगंड, आस मोहम्मद, रवि भाटी, मनोज वर्मा, जिला अध्यक्ष कौशल आधाना, संतोष उपाध्याय, मनोज शर्मा, मनोज अवाना, नरेंद्र कसाना, नीरज चौधरी, संजय छपारा, कवर सिंह हरसाना, सतबीर त्यागी, ओपी त्रिपाठी, दिनेश सिंह, लोकेश शर्मा, राजकुमार भाटी, महिला प्रकोष्ठ  की सुमन  चौधरी एवं सुषमा  नवीन आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।