संसद में पास किए गए कानून किसानों को बर्बाद करने के लिए हैं, पर्याप्त शनिवार को फिर किसान दिल्ली कूच करेंगेः पवन खटाना

 





विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

केंद्र सरकार के नए कृषि कानून के विरोध में पंजाबए हरियाणा समेत कई राज्यों के किसान विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। गौतमबुद्धनगर में ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे पर भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) ने चक्का जाम किया। इससे ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे पर कई राज्यों के लिए गुजरने वाले यात्री परेशान रहे। भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के अहवान पर कार्यकर्ताओं ने हरियाणा के कुंडली से यूपी होते हुए पलवल जाने वाले ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे को गौतमबुद्धनगर के सिरसा गांव के पास जाम कर दिया। कई राज्यों के लोग यहां फंस गए। उधर पुलिस ने भारतीय किसान यूनियन कार्यकर्ताओं को रोकने का प्रयास किया,मगर कामयाब नहीं रहे। शुक्रवार सुबह 11 बजे भारतीय किसान यूनियन (अराजनैतिक) के जिलाध्यक्ष अनित कसाना के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं और किसानों की भीड़ ने ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे को दोनों तरफ से जाम कर दिया। भारतीय किसान यूनियन के मेरठ मंडल अध्यक्ष व प्रदेश प्रवक्ता पवन खटाना ने कहा कि केंद्र सरकार ने किसानों को बर्बाद करने के लिए पूरा इंतजाम कर दिया है। पिछले दिनों संसद में पास किए गए कानून किसानों को बर्बाद करने के लिए पर्याप्त हैं। शनिवार को फिर किसान दिल्ली कूच करेंगे। जिलाध्यक्ष अनित कसाना ने कहा कि यह बिल किसान विरोधी है। जब तक केंद्र सरकार बिल को वापस नहीं लेती, आंदोलन जारी रहेगा। भारतीय किसान यूनियन के जिला मीडिया प्रभारी सुनील नागर ने बताया कि एक टीम ने ग्रेटर नोएडा के सिरसा गांव के पास और दूसरी टीम ने हरियाणा की तरफ से चक्का जाम किया।