महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं स्वावलंबन को लेकर नवरात्रों में मिशन शक्ति कार्यक्रम जिम्स में आयोजित किए जाएंगे

 



 

डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला, जिम्स के डायरेक्टर ब्रिगेडियर डा0 राकेश गुप्ता, संयोजक डा0 रंजना वर्मा, आचार्य एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 सौरभ श्रीवास्तव द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया

 



मौहम्मद इल्यास/ग्रेटर नोएडा


महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान एवं स्वावलंबन के संबंध में उत्तर प्रदेश सरकार के मिशन शक्ति अभियान के तहत जिम्स में आगामी 27 अक्टूबर तक कार्यक्रम किए जाएंगे। राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान ग्रेटर नोएडा इस बार पावन नवरात्र के शुभ अवसर पर पूरे 9 दिनों तक दिनांक 17 से 25 अक्टूबर 2020 तक संस्थान में कार्यरत महिला/बालिकाओं को महिला सशक्तिकरण एवं सुरक्षा विषयक जागरूकता एवं प्रोत्साहन तथा सुरक्षा प्रशिक्षण संबंधी कार्यक्रम आयोजित कर रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के दृष्टिगत संपूर्ण उत्तर प्रदेश में नवरात्र के दौरान महिला सशक्तीकरण एवं सुरक्षा संबंधी जागरूकता कार्यक्रम आयोजित कराये जाने का निर्णय लिया गया है। इस क्रम में आज दिनांक 17 अक्टूबर 2020 को संस्थान में भी कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसका शुभारंभ डीसीपी महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला, जिम्स के डायरेक्टर ब्रिगेडियर डा0 राकेश गुप्ता, संयोजक डा0 रंजना वर्मा, आचार्य एवं मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 सौरभ श्रीवास्तव द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। डायरेक्टर डा0 ;ब्रिगेडियर राकेश गुप्ता ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि महिला को अपनी सुरक्षा सम्बंधी मामले में हमेशा सजग रहना चाहिए। साथ ही यह बताया कि संस्थान में कार्यरत संकाय सदस्यों में लगभग आधी महिला हैं तथा कुल कर्मचारियों में आधे से ज्यादा महिला कर्मचारी हैं। उन्होंने कहा यदि किसी भी महिला को सुरक्षा संबंधी किसी प्रकार की कोई परेशानी हो तो तुरंत बताएं।  पुलिस उपायुक्त महिला एवं बाल सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने संस्थान में कार्यरत महिला संकाय सदस्यों, नर्सिंग स्टॉफ तथा महिलाओं/बालिकाओं को सुरक्षा संबंधी कई बातों व हैल्प लाइन के बारे में बताया और उनको प्रोत्साहित किया। डा0 अंजू रानी सहायक आचार्य ने महिला मरीजों की सुरक्षा एवं देखभाल संबंधी नैतिक मुददे पर तथा डा0 नंदिता चतुर्वेदी सहायक आचार्य ने कार्यस्थल पर महिला सुरक्षा संबंधी विषय पर महिलाओं को जागरूक किया। जूडो.कराटे/ताइक्वान्डो प्रशिक्षक विजय त्रिपाठी ने महिलाओं/बालिकाओं को बताया कि कार्यस्थल पर एवं घर से बाहर अपने को सुरक्षित कैसे रखें। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 सौरभ श्रीवास्तन ने जानकारी दी कि इन 9 दिनां के कार्यक्रम के दौरान संस्थान की महिला कर्मचारियों को सुरक्षा संबंधी प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। कार्यक्रम के अंत में समन्वयक डा0 रंजना वर्मा ने सभी अतिथियों एवं आगान्तुकों को धन्यवाद दिया एवं आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन डा0 अदिति भाटी, डा0 श्वेता सिंह व डा0 रितु सिंह द्वारा किया गया। कार्यक्रम में डीन रंभा पाठक, डा0 सतेन्द्र कुमार, डा0 शिवानी कल्हन, डा0 अनुराग श्रीवास्तव आदि चिकित्सगण उपस्थित रहे।

 

महिलाओं और बच्चियों को विरूद्ध होने वाले अपराधों के प्रति गौतमबुद्धनगर पुलिस सचेत करेगी

 



नवरात्रों में मिशन शक्ति का आयोजन करने के लिए गौतमबुद्धनगर पुलिस को भी एक अहम जिम्मेदारी दी गई है। इस मिशन में गौतमबुद्धनगर पुलिस विभाग को एक मुख्य भूमिका सौंपी गई है जिसके तहत विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से गौतमबुद्धनगर पुलिस महिलाओं और बच्चियों को उनके विरूद्ध घटने वाले अपराधों के प्रति सचेत करेगी एवं उनके सशक्तिकरण में प्रभावी योगदान देने का प्रयास करेगी। गौतमबुद्धनगर पुलिस कमिश्नरेट सूत्रों के मुताबिक इस दौरान गौतमबुद्धनगर पुलिस की महिला सुरक्षा ईकाई द्वारा कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगें। इस कार्यक्रम की कडी में पुलिस के एक व्रज वाहन को जागरूकता वाहन के रूप में परिवर्तित किया गया है, जिसे दिनांक 18-10-2020 को रवाना किया जाएगा, जो अगले 07 दिनों तक समस्त जनपद में भ्रमणशील रहेगा। इस वाहन पर एक बडी टी0वी स्क्रीन के माध्यम से एक विडियो प्रसारित किया जाएगा, जिसमें महिला सुरक्षा संबंधी अहम सूचनाएं पुलिस द्वारा जनपद वासियों तक अधिक से अधिक संख्या में पहुंचाने का प्रयास रहेगा। यह वाहन 15 से 20 मिनट की अवधि के लिए विभिन्न स्थानों पर रूककर वहां पर उपस्थित लोगों को आकर्षित कर इस विडियों का प्रसारण करेगा। ग्रामों, मलिन बस्तीयों, कालौनियों, बाजारों, मॉल्स, पार्कों एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों के आसपास इस वाहन को अगले सात दिनों तक पाया जाएगा। इसके साथ ही  कुछ प्रमुख ग्रामों एवं शहरी सार्वजनिक स्थानों पर पुलिस उपायुक्त महिला सुरक्षा एवं सहायक पुलिस आयुक्त महिला सुरक्षा, प्रथम/द्वितीय द्वारा वहां उपस्थित लोगों के साथ वर्चुअल महिला चैपाल के माध्यम से संवाद किया जाएगा। जहां महिलाओं एवं बच्चियों की सुरक्षा से संबंधित समस्याओं का निस्तारण किए जाने का प्रयास किया जाएगा। यह वर्चुअल महिला चैपाल जागरूकता वाहन के माध्यम से की जाएगी। यदि कोई जनप्रतिनिधि/संगठन अपनी लोकेशन/ग्राम में वर्चुअल महिला चैपाल कराने के इच्छुक हैं, वे अपना पंजीकरण दूरभाष नं0 9870395200 पर करा सकते है। इस मिशन शक्ति कार्यक्रम में .स्कूल के विद्यार्थियों के लिये साईबर सुरक्षा पर वेबिनार अयोजित की जाएगी।  दिनांक 21-10-2020 को समय 1200 बजे पुलिस उपायुक्त महिला सुरक्षा द्वारा साईबर एक्सपर्टस के साथ एक वेबिनार का आयोजन किया जा रहा है, जिसमें भाग लेने के लिये 74 सरकारी एवं प्राईवेट स्कूलों को आमंत्रित किया गया है। तेजी से बढते साईबर अपराधों के प्रति युवकों/युवतियों को समेत एवं जागरूक करने की दृष्टि से यह वेबिनार आयोजित की जा रही है। इसको यू.ट्यूब लाईव एवं फेसबुक लाईव के माध्यम से भी प्रसारित किया जाएगा। इस सेशन के दौरान अध्यापकों एवं विद्यार्थियों द्वारा पूछे गये प्रश्नों के भी उत्तर दिए जाएंगे।  कम्यूनिटी पुलिसिंग के मॉडल को प्रोत्साहित करने हेतु गौतमबुद्धनगर की महिला निवासियों के साथ पुलिस का संपर्क एवं समन्वय सुदृढ करने हेतु इस सप्ताह महिलाओं को गौतमबुद्धनगर पुलिस द्वारा आमंत्रित किया गया है कि वे हमारी स्वयं सिद्धा महिला पुलिस टीम के साथ संवेदनशील स्थानों पर भ्रमण करें। इससे महिलाओं को अवसर मिलेगा कि वे पुलिस को उन स्थानों से परिचित करा सकें, जहां पर वे असुरक्षित महसूस करती हैं एवं पुलिस के साथ वहां पर भ्रमण करने से उनके हौंसलें बुलंद होगें। इस कार्यक्रम को आयोजित करने के लिए पुलिस उपायुक्त महिला सुरक्षा द्वारा एक गूगल स्प्रेड शीट तैयार की जा रही है। वहीं सभी पुलिस थानों की सेवाओं को महिलाओं के प्रति और अधिक संवेदनशील एवं जनोपयोगी बनाए जाने की दृष्टि से उच्च गुणवत्ता की महिला डेस्कों की स्थापना की जा रही है। जिन पुलिस थानों पर महिला डेस्क पूर्व से स्थापित है, वहां पर उनका नवीनीकरण कराया जाएगा। यह सभी कार्य दिनांक 25-10-2020 तक पूर्ण कर लिया जाएगा। इन त्योहारों एवं नवरात्रि के दृष्टिगत महिलाओं की सुरक्षा के लिए रामलीला मैदानों, पूजास्थलों, मन्दिरों एवं बाजारों आदि में गौतमबुद्धनगर पुलिस की महिला पेट्रोलिंग टीम द्वारा समय 1700 बजे से 2100 बजे तक प्रभावी गश्त सुनिश्चित की जाएगी। इन सार्वजनिक स्थानों पर महिलाओं के साथ होने वाली किसी भी घटना पर इन टीमों द्वारा त्वरित कार्यवाही सुनिश्चित की जाएगी। महिला शक्ति अभियान के तहत पुलिस, शिक्षा विभाग, औद्योगिक विभाग सहित सभी विभागों को एक संयुक्त कार्य योजना बनाने के लिए निर्देशित किया गया हैं।