विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

जनपद गौतमबुद्धनगर के पौराणिक कसबा दनकौर में स्थित द्रोण गौशाला, जहां सैकड़ों गौवंशों का पालन पोषण होता है, के जमीनी विवाद के चलते हुए गौवंश को मिलने वाली राजकीय सहायता उपलब्ध नहीं हो पा रही थी, जिसके लिए श्री द्रोण गौशाला समिति के रजनीकांत अग्रवाल, मनीष मांगलिक, संदीप कुमार जैन, मोहित चौकडात, संजीव मागलिक आदि पदाधिकारी दिनांक 21 सितंबर 2019 को जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह से मिले और सारी स्थिति से अवगत कराया। इसके पश्चात जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने प्रकरण का संज्ञान लिया और जिलाधिकारी से गौवंश को मिलने वाली सहायता उपलब्ध हो पाने के लिए नाराजगी जताई तथा शासन स्तर पर पैरवी कर दनकौर स्थित द्रोण गौशाला को उसका वाजिब हक मिल सके, इसके लिए पूरा प्रयास किया गया। परिणामस्वरूप गत दिनांक 16 जून 2020 को शासन ने उपरोक्त धनराशि श्री द्रोण गौशाला समिति के खाते में ट्रांसफर कर दी। इस मौके पर जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने बताया कि आगे भी गौवंशों के संरक्षण में अगर कोई दिक्कत किसी को महसूस होगी और जो भी जरूरत बताई जाएगी, उसके लिए निश्चिततौर पर हर संभव मदद होगी। जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने आगे बताया कि दनकौर एक पौराणिक और ऐतिहासिक कसबा रहा है, जहां बहुत पहले से क्षेत्र के सामाजिक लोग गौशाला की स्थापना के माध्यम से गौवंशों का पालन.पोषण करते चले रहे थे। इस पर होने वाला काफी खर्चा व्यापारी वर्ग के लोग स्वंय ही चंदा के माध्यम से करते रहे हैं, लेकिन अब नियमित सरकारी सहायता प्राप्त होने से और बेहतर तरीके से गौवंशों का संरक्षण हो पाएगा। इस सामाजिक कार्य के लिए जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने गौशाला समिति के सभी सम्मानित सदस्यों को उनकी इस समाज सेवा और पशु सेवा के लिए धन्यवाद भी प्रेषित किया है।