>

हर हर शंभू भजन इन दिनों खूब पॉपुर हो रहा है, जहां देखों वहां यही सांग सुनाई दे रहा है, फरमानी नाज इंडियन आइडल फेम सिंगर भी है

उलेमाओं ने इंडियन आइडल फेम सिंगर फरमानी नाज को निशाने पर लिया

विजन लाइव/उत्तर प्रदेश

हर हर शंभू भजन इन दिनों खूब पॉपुर हो रहा है, जहां देखों वहां यही सांग सुनाई दे रहा है। चूंकि श्रावण मास चल रहा है, श्रावण मास का भारतीय संस्कृति में विशेष महत्व होता है। चतुर्मास के शुरू होते ही भगवान भाले शंकर सृष्टि का संचालन संभाल लेते है जब कि भगवान विष्णु बैंकुठ छोड कर दूसरे लोक यानी पाताल चले जाते है, ऐसा विद्वान बताते आए हैं। हाल में ही महाशिव रात्रि का पावन पर्व में गया है।

>
 महाशिवरात्रि पर्व के मौके पर कावड और कवडियों और श्रद्धालुओं के बीच हर हर शंभू भजन खासा पंसद किया गया। यहां तक मंदिरों और शिवालयों तक से इस पॉपुलर हुए भजन हर हर शंभू-शंभू की गूंज सुनाई देती रही थी। खास बात यह है कि भजन हर हर शंभू-शंभू की सिंगर फरमानी नाज है और जिनका नाता उत्तर प्रदेश है। फरमानी नाज इंडियन आइडल फेम सिंगर भी है। एक ओर इंडियन आइडल फेम सिंगर फरमानी नाज पर गर्व भी हो रहा है, किंतु वही सिंगर फरमानी नाज कट्टरपांथियो ंके निशाने पर भी आ गाई हैं। खासतौर से उलेमाओं ने इंडियन आइडल फेम सिंगर फरमानी नाज को निशाने पर ले लिया है। देवबंद उलेमा का कहना है कि यह इस्लाम के खिलाफ है। एक रिपोर्ट के मुताबिक फरमानी नाज ने यह भजन जुलाई में पोस्ट किया था। धीरे.धीरे वायरल होने के बाद देवबंद उलेमा ने इस पर आपत्ति जताई है। फरमानी के गाने पर उलेमा मुफ्ती असद कासमी का बयान वायरल है।
>
एक रिपोर्ट के मुताबिक उलेमा मुफ्ती असद कासमी ने फरमानी के गाने पर कहा था कि इस्लाम में किसी भी तरह का नाच.गाना जायज नहीं। ये हराम है और इनसे मुसलमानों को परहेज करना चाहिए। इस औरत ने जो गाया है वो जायज नहीं है, उसे अल्लाह से तौबा करनी चाहिए। इस मामले पर विवाद बढ़ता देख फरमानी ने  अब अपने यूट्यूब चैनल पर एक मैसेज पोस्ट किया है, जिसका लोग सपोर्ट कर रहे हैं। भजन गाने वाली सिंगर फरमानी नाज की क्या है, कहानी आइए एक नजर डालते हैंः- फरमानी नाज इंडियन आइडल कंटेस्टेंट रह चुकी हैं, उनकी जिंदगी काफी संघर्षभरी रही है, जो कि शो के दौरान चर्चा सुर्खियों में आई थी।

>
>
>

 यहां तक की अपने बीमार बेटे की वजह से फरमानी को शो तक छोड़ना पड़ा था। फरमानी ने जब इंडियन आइडल के मंच को बीच में ही छोड़ा तो जजेज सहित उनके फैन्स को भी काफी दुख हुआ था। फरमानी मुजफ्फरनगर के मोहम्मदपुर लौहड्डा की रहने वाली हैं। उनकी शादी मेरठ के गांव हसनपुर में हुई थी। फरमानी ने बेटे को जन्म दिया जो कि बीमार रहने लगा। इसके बाद उनकी जिंदगी का संघर्ष शुरू हुआ। ससुरालवालों ने अपनी आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए बच्चे के इलाज का पैसा देने से मना कर दिया। इस पर फरमानी बेटे को लेकर मायके आ गई थीं। वहां भी आर्थिक स्थिति कुछ खास अच्छी नहीं थी। वह अच्छा गाती थीं। उनका वीडियो गांव के लड़कों ने यूट्यूब पर डाल दिया। इस वीडियो को काफी पसंद किया गया। इसके बाद उन्हें लोगों ने इंडियन आइडल में जाने की सलाह दी और सिलेक्शन हो गया। बेटे के ऑपरेशन के लिए फरमानी ने शो बीच मे छोड़ दिया था। 

>
>
>

शो के बाद भी वह अपने यूट्यूब चैनल पर ऐक्टिव हैं। यूट्यूब पर उनके गाने काफी पॉप्युलर हैं। उन्होंने बीते महीने एक भजन गाकर पोस्ट किया जो कि मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों को पसंद नहीं आ रहा। लोग इसे इस्लाम के खिलाफ बताकर बॉयकॉट कर रहे हैं। गाने के कॉन्ट्रोवर्सी में आने के बाद फरमानी ने इसे इस्लाम के खिलाफ बताने वाले लोगों के लिए यूट्यूब चैनल पर एक मैसेज पोस्ट किया है। इस मैसेज का कई लोग सपोर्ट कर रहे हैं। फरमानी ने लिखा है, सिंगर और म्यूजिक का कोई धर्म नहीं होता। मास्टर सलीम और रफी साहब जैसे बुलंद सिंगर ने भी भजन गाए हैं, तो सभी से हाथ जोड़कर निवेदन है कि कोई भी सिंगिंग और म्यूजिक को धर्म से ना जोड़ें, आपकी फरमानी नाज।