ग्रामीणों ने खैरपुर गुर्जर में पहले एक महापंचायत की और फिर गौतमबुद्ध बालक इंटर कॉलेज में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ अमनदीप  को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित एक ज्ञापन सौंपा


मुख्यमंत्री से मांग:-  ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के आबादी के केवल जो 2213 किसान है उनसे भूमि वापसी लेकर ग्रेटर नोएडा के समस्त 50 हजार किसानो को 4 प्रतिशत अतिरिक्त भूखण्ड दिये जाये, जिससे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व सरकार को हजारों करोड़ रूपये मिलेगें तथा 50 हजार किसान परिवारों की नाराजगी भी दूर हो जायेगी।

मौहम्मद इल्यास-"दनकौरी"/  गौतमबुद्धनगर
ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के खैरपुर गुर्जर गांव के ग्रामीण आज भी  4%  किसान आबादी अतिरिक्त भूखंड के लिए अधिकारियों के दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं। आज फिर ग्रामीणों ने खैरपुर गुर्जर में पहले एक महापंचायत की और फिर गौतमबुद्ध बालक इंटर कॉलेज में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ अमनदीप  को मुख्यमंत्री के नाम संबोधित एक ज्ञापन सौंपा और मांग की कि 4% अतिरिक्त किसान आबादी के भूखंड तत्काल दिए जाएं। उधर एसीईओ अमनदीप ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया है कि 15 दिन के अंदर उनकी इस समस्या का निस्तारण करा दिया जाएगा। मुख्य कार्यपालक अधिकारी ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के माध्यम से मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा कि माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद ने रिट संख्या 37443/2011 गजराज व अन्य बनाम राज्य में दिनांक 21.10.2011 को आदेश दिया था कि ग्रेटर नोएडा प्रधिकरण याचीगणों  को 64.7 अतिरिक्त प्रतिकर तथा 6 विकसित  भूखण्ड के स्थान पर 10 विकसित भूखण्ड दिये जायें।  ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद के आदेश दिनांक 21.10.2011 के अनुपालन में ग्रेटर नोएडा विकास प्राधिकरण के समस्त किसानों को 64.7 अतिरिक्त प्रतिकर अदा कर दिया। माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद के आदेश दिनांक 21.10.2011 की पुष्टि माननीय उच्चतम न्यायालय ने अपील संख्या 4506/2014 सावित्री देवी बनाम राज्य में पारित आदेश दिनांक 14.05. 2015 से कर दी, मान्यवर इसके बाद भी प्राधिकरण ने माननीय उच्च न्यायालय व उच्चतम न्यायालय के आदेश के बावजूद भी 10 प्रतिशत विकसित भूखण्ड केवल उन्ही किसानों को दिये गये जो न्यायालय गये थे। मान्यवर, माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद व माननीय सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद भी ग्रेटर नोएडा के लगभग 50 हजार किसान परिवारो को 10 विकसित भूखण्ड देने से वंचित किया जा रहा है। मान्यवर माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद एवं माननीय उच्चतम न्यायालय ने अपने किसी भी आदेश में यह नहीं कहा है कि उन किसानो को 10 प्रतिशत विकसित भूखण्ड नही दिये जायेगे जो न्यायालय नहीं गये थे । मान्यवर इसके बाद भी ग्रेटर नोएडा के समस्त 50 हजार किसान परिवारों को 4 प्रतिशत अतिरिक्त भूखण्ड से वंचित किया जा रहा है । मान्यवर ग्रेटर नोएडा पाधिकरण के अधिकारी कहते हैं कि हमारे पास जमीन नहीं है जबकि चन्द लोगों को फर्जी तरीके से कृषि भूमि पर फर्जी तरीके से आबादी दर्शाकर आबादी के नाम पर भूमि छोडी गयी है। मान्यवर अकेले गांव खैरपुर गुर्जर ग्रेटर नोएडा मे  चन्द किसानों के नाम पर 13 हैक्टेयर 1856 वर्ग मीटर भूमि आबादी के नाम पर छोडी गयी है मान्यवर जबकि गांव खैरपुर गुर्जर ग्रेटर नोएडा के समस्त किसानो को 4 प्रतिशत अतिरिक्त भूखण्ड देने के लिये केवल 12 हैक्टेयर भूमि चाहिये । मान्यवर गांव खैरपुर गुर्जर ग्रेटर नोएडा में आबादी के नाम पर चन्द किसानों के नाम पर जो 13 हैक्टेयर 1856 वर्ग मीटर भूमि छोडी गयी है,  केवल उसे 100 रूपये के स्टाम्प पेपर पर बिना विकास शुल्क लिये छोड़ी जा रही है । मान्यवर जबकि इसी भूमि 13 हैक्टेयर 1856 वर्ग मीटर भूमि में से 12 हैक्टेयर भूमि गांव खैरपुर गुर्जर ग्रेटर नोएडा के समस्त किसानो को 4 प्रतिशत अतिरिक्त भूखण्ड दिये जाये तो प्राधिकरण को 985 रूपये प्रति वर्ग मीटर डेवलपमेन्ट चार्ज के हिसाब से प्राधिकरण को 11 करोड़ 58 लाख रुपये मिलेंगे तथा बैनामो से भी सरकार को करोडो रूपये मिलेंगे तथा जो भूमि बचेगी यानि 1 हैक्टेयर 1856 वर्ग मीटर भूमि उसके 15 करोड़ 41 लाख 28000 रूपये प्राधिकरण को मिलेगें। मान्यवर इस प्रकार अकेले गांव खैरपुर गुर्जर ग्रेटर नोएडा से प्राधिकरण व सरकार को लगभग 40 करोड़ का नुकसान हुआ है। मान्यवर ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के समस्त 44 गांवों से प्राधिकरण व सरकार को लगभग 4 हजार करोड़ रूपये का नुकसान है। मान्यवर 50 हजार किसान परिवारों की नाराजगी सरकार को झेलनी पड़ रही है, यह अलग है। अतः मान्यवर मुख्यमंत्री जी से निवेदन है कि ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के आबादी के केवल जो 2213 किसान है उनसे भूमि वापसी लेकर ग्रेटर नोएडा के समस्त 50 हजार किसानो को 4 प्रतिशत अतिरिक्त भूखण्ड दिये जाये, जिससे ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण व सरकार को हजारों करोड़ रूपये मिलेगें तथा 50 हजार किसान परिवारों की नाराजगी भी दूर हो जायेगी। इस मौके पर ज्ञापन देने वालों में हाजी  इस्लाम, संदीप खारी,फिरे राम खारी, बिजेन्द्र सिंह, सतीश कुमार,श्रीपाल खारी,सोविन्द्र खारी, विनोद वर्मा एडवोकेट, प्रवीण शर्मा ,उपेंद्र खारी ,ओमवीर प्रधान, पप्पू प्रधान, महिपाल जमीदार, मास्टर जय विंदर, रवि खारी, अमित खारी, अरुण खारी, सुंदर नागर, इंदर खारी आदि ग्रामीण  मौजूद रहे।