जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतमबुद्धनगर ने राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, प्राथमिक संवर्ग जनपद गौतमबुद्धनगर के ज्ञापन पर त्वरित के निराकरण हेतु निर्देश दिए

 


विजन लाइव/गौतमबुद्धनगर

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतमबुद्धनगर धीरेन्द्र कुमार ने राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ, प्राथमिक संवर्ग जनपद गौतमबुद्धनगर द्वारा दिनांक 09-12-2020 को दिए गए ज्ञापन परिषदीय अध्यापकों की समस्याओं को गंभीरता से लिया है और इन समस्याओं के त्वरित के निराकरण हेतु निर्देश दिए हैं। वित्त एवं लेखाधिकारी बेसिक गौतमबुद्धनगर और समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारी गौतमबुनगर, श्रीमती मधु डी0सी0 एम0आई०एस० और साथ ही जिला अध्यक्ष अशोक यादव राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ प्राथमिक संवर्ग जनपद गौतमबुद्धनगर को पत्र प्रेषित किए हैं।जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतमबुद्धनगर धीरेन्द्र कुमार ने कहा है कि प्राय देखा गया है कि निरीक्षण उपरान्त परिषदीय अध्यापकों के बिना स्पष्टीकरण लिए ही उन पर विभागीय कार्यवाही प्रस्तावित कर दी जाती है। अध्यापक को अपना पक्ष रखने का अवसर नहीं दिया जाता है। जिसकी कीमत निर्दोष अध्यापकों को भी चुकानी पडती है। इस कारण अध्यापको में काफी रोष व्याप्त है। अतः अध्यापकों पर कोई भी विभागीय कार्यवाही करने से पहले अध्यापकों से लिखित स्पष्टीकरण मांगा जाए,संतुष्ट न होने पर ही कार्यवाही प्रस्तावित की जाए। इसके साथ ही प्राय देखा गया है कि अध्यापकों को 10 वर्ष की संतोषजनक सेवा के बाद चयन वेतनमान नहीं लगाया जाता है जिससे उनकी वित्तीय नुकसान उठाना पडता है। अतः परिषदीय अध्यापकों को 10 साल जिस माह में पूर्ण हो रहे हो उसी माह में चयन वेतननाम लगाने की कार्यवाही पूर्ण होनी चाहिए। पिछले चयन वेतनमान की जो प्रकिया रूकी हुई उसे भी शीघ्र पूर्ण किया जाए। परिषदीय शिक्षकों को प्रतिवर्ष मिलने वाले उपार्जित अवकाश को नियमानुसार मानव संपदा पोर्टल पर चढ़ाया जा इस संबंध में पूर्व भी राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ गौतमबुद्धनगर द्वारा पत्रांक आर०एस०एस० जी०बी०एन ज्ञापन 42/2020-.21दिनांक 24-08-2020 को मांग पत्र दिया जा चुका है। वहीं शीतकालीन अवकाश कार्यालय जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतमबुद्धनगर पत्रांक परिपत्र/4083.8-22020-.21 दिनांक 24 अगस्त 2020 के अनुसार बिन्दु 05 पर शीतकालीन अवकाश दिनाक 31 दिसंबर से 14 जनवरी अंकित है। परन्तु शिक्षकों में इस अवकाश को लेकर काफी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इस असमंजस को दूर करने के लिए आपके द्वारा पृथक स्व शीतकालीन अवकाश का आदेश निर्गत किया जाए। खड शिक्षा अधिकारियों द्वारा मानव संपदा पर बाल्य देखभाल अवकाश और चिकित्सीय अवकाश रद्द कर दिया जाता है। जबकि उसी विद्यालयों से दूसरे अध्यापकों का अवकाश स्वीकृत कर दिए जाते है। यह स्थिति अत्यन्त खेदजनक है। इस पर खण्ड शिक्षा अधिकारी की जवाबदेही तय की जाए। एक ही वेतन पर यदि कोई अध्यापक 10 साल से नौकरी कर रहा है, और बीच में पदोन्नति हो जाती है परन्तु उसका वेतन क्रम चेंज नहीं होता तो उसका भी चयन वेतनमान लगना चाहिए।  साथ ही जनपद में 31661 भर्ती में नवयुक्त सहायक अध्यापकों एवं जो शिक्षा मित्र पूर्व में समायोजित रहे है उनके शैक्षिक प्रमाण पत्रों का सत्यापन पूर्व में ही डाइट दनकौर एवं जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी गौतमबुद्धनगर द्वारा कराया जा चुका है। ऐसे शिक्षा मित्रों का पूर्व का सत्यापन रिपोर्ट के आधार पर वेतन जारी किया जाए और बाकी बचे नवनियुक्त सहायक अध्यपाकों का सत्यापन भी यथाशीघ्र कराकर वेतन आहरित किया जाए।  बी०एल00 डयूटी के सापेक्ष प्रतिकर अवकाश की व्यवस्था जनपद में थी जनपद में इसे फिर लागू करने के लिए स्थिति स्पष्ट करें। उक्त कार्य हेतु मानदेय प्रदान किया जाता है। वहीं जनपद में पदोन्नति प्रकिया यथाशीघ्र शुरू करवाने का कष्ट करें। अतःा् उपरोक्त ज्ञापन की प्रति सभी सबंधितों को संलग्न कर इस निर्देश के साथ प्रेषित है कि संबंधित अधिकारी/ कर्मचारी नियमों के आलोक में त्वरित कार्यवाही करें तथा कृत कार्यवाही/वस्तुस्थिति से तीन दिन के अंदर अधोहस्ताक्षरी को अवगत काराएं।