डीसीपी के यमुना एक्सप्रेस-वे पर रात्रि 2.00 बजे तक गश्त किए जाने के निर्देश

 


मौहम्मद इल्यास/ग्रेटर नोएडा

गौतमबुद्धनगर में यमुना एक्सप्रेस-वे पर पुलिस की पाठशाला लगी। पुलिस की यह पाठशाला जेवर तक के क्षेत्र में यमुना एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा के इंतजामात को लेकर लगाई गई। पुलिस कमिश्नरेट के जोन-3 में ही यमुना एक्सप्रेस-वे आता है। ग्रेटर नोएडा के जीरो प्वाइंट से लेकर जेवर तक के सभी थाना प्रभारी,चौकी प्रभारी, पीसीआर वैन, एसीपी इस पुलिस की पाठशाला में और वह भी अद्धरात्रि में पलभर में ही जमा हो गए। डीसीपी जोन-3 राजेश कुमार सिंह ने बताया कि मध्यरात्रि में एक अलर्ट पर यमुना एक्सप्रेस-वे के 19 वें किलोमीटर के पास जोन-3 के सभी पीसीआर, संबंधित थाना प्रभारी,चौकी प्रभारी और एसीपीगण को बुलाया गया। कुछ देर में ही यमुना एक्सप्रेस-वे पर पुलिस की पाठशाला लगनी शुरू हो गई। मध्यरात्रि में लगी इस पुलिस की पाठशाला में यमुना एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा इंतजाम का जायजा लिया गया। साथ ही पुलिसकर्मियों को यह ताकीद किया कि यमुना एक्सप्रेस-वे सुरक्षा पुलिस की पहली प्राथमिकता है और जिसमें किसी भी प्रकार की चूक नहीं होनी चाहिए अन्यथा संबंधित दंड के भागी होंगे। डीसीपी जोन-3 ने बताया कि यमुना एक्सप्रेस-वे पर घटना और दुर्घटनाओं और सुरक्षा इंतजामात को लेकर यह बैठक बुलाई गई है ताकि पुलिस चुस्त दुरस्त और सजग रहे। इस मौके पर थाना प्रभारियों को ताकीद किया गया है कि प्रत्येक दशा में अपने क्षेत्र में और यमुना एक्सप्रेस-वे पर रात्रि 2.00 बजे तक स्वयं गश्त किया करें और इसके बाद पुलिस के सेकेंड ऑफिसर थाने की मोबाइल में गश्त करें। इस मौके पर सभी को सतर्क और जागरूक रहने हेतु हिदायत दी गई। इस मौके पर अपर पुलिस उपायुक्त ग्रेटर नोएडा जोन-3 विशाल पांडेय भी उपस्थित रहे।