कौशल्या वर्ल्ड स्कूल के द्वारा बच्चों को ऑनलाइन परीक्षा से बाहर किया गया है। इस तरह की पुनरावृत्ति को कतई भी बर्दाश्त नही किया जाएगाः चौधरी् प्रवीण भारतीय



विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

  कोरोनाकाल में बंद रहे प्राइवेट स्कूलों की ऑनलाइन कक्षाओं के नाम पर लूट के खिलाफ करप्शन फ्री इंडिया के कार्यकर्ताओं ने जिला मुख्यालय सूरजपुर पर प्रदर्शन कर जिलाधिकारी के नाम संबोधित एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट रजनीकांत को सौपा। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी् प्रवीण भारतीय ने बताया कि वैश्विक महामारी कोरोना के कारण देश एवं प्रदेश के अधिकतर लोगों की नौकरियां एवं निजी व्यवसाय बंद हो गए हैं। जिस कारण वर्तमान समय में लोग आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं। वही गौतमबुद्धनगर में स्थित अधिकतर प्राइवेट विद्यालय बच्चों के अभिभावकों पर फीस जमा कराने का दबाव बना रहे हैं। बच्चों के नाम काटने की धमकी दे रहे हैं एवं ऑनलाइन परीक्षा से बाहर कर बच्चों एवं अभिभावकों का शोषण कर रहे हैं। ऐसा ही एक प्रकरण में कौशल्या वर्ल्ड स्कूल के द्वारा बच्चों को ऑनलाइन परीक्षा से बाहर किया गया है, बच्चों के अभिभावकों में इस घटना से काफी रोष है। जबकि राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग उत्तर प्रदेश के द्वारा यह कहा गया है कि इस प्रकरण में विद्यालय एवं अभिभावकों की बैठक कर इस गंभीर मुद्दे को तत्काल निपटाया जाए। करप्शन फ्री इंडिया के संस्थापक सदस्य आलोक नागर ने कहा कि इस कोरोना काल में लोगों की आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के द्वारा यह सुझाव है कि प्राइवेट विद्यालय मालिकों पर सिर्फ और सिर्फ अध्यापकों का खर्च है, बाकी खर्च ऑनलाइन पढ़ाई के दौरान अभिभावक उठा रहे हैं। जैसे मोबाइल लैपटॉप इंटरनेट आदि पर अभिभावक खर्च कर रहे हैं।  कोर कमेटी सदस्य संजय भैया ने कहा कि संगठन ने पत्र के माध्यम से मांग कि है कि कमेटी गठित कर यह निर्णय किया जाए कि अभिभावकों से सिर्फ पूर्णता फीस ना लेकर सिर्फ और सिर्फ अध्यापकों खर्च हेतु फीस जमा कराई जाए। उन्होंने कहा कि यदि 15 दिन में कमेटी का गठन कराकर समस्या का समाधान नही होता है तो संगठन आंदोलन को विवश होगा।  इस दौरान  जिलाध्यक्ष मास्टर दिनेश नागर और जतन प्रधान, एडवोकेट दीपक भाटी, यतेंद्र कसाना, कृष्ण नागर,  राकेश नागर, हरेन्द्र कसाना, जितेंद्र भाटी, कपिल एडवोकेट, एडवोकेट विशाल नागर, गौरव शर्मा,एडवोकेट दिनेश भाटी, अरविंद पहलवान, पवन एडवोकेट और नफीस आदि पदाधिकारी और कार्यकर्तागण मौजूद रहे।