शव की पैन्ट की जेब में मिली पलवल हरियाणा पेरीफेरल हाईवे टोल की पर्ची से पुलिस तक पहुंचने में हुई कामयाब



थाना कासना पुलिस ने ट्रक ड्राइवर की हत्या का पर्दाफाश करते हुए तीन लोगों को दबोचा




विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

थाना कासना पुलिस ने ट्रक ड्राइवर की हत्या का पर्दाफाश करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साथ ही पुलिस ने अजीपाल उर्फ एमएलए पुत्र स्वर्गीय रगवीर उर्फ रघुवीर निवासी ग्राम घंघोला थाना कासना गौतमबुद्धनगर,  सोनू पुत्र महेन्द्र निवासी ग्राम घंघोला थाना कासना गौतमबुद्धनगर और शकील पुत्र महमूद मूल निवासी जलीलपुर थाना जहाँगीराबाद जनपद बुलंदशहर वर्तमान निवासी ग्राम घंघोला थाना कासना गौतमबुद्धनगर अभियुक्तों की निशादेही पर आला कत्ल तथा ट्रक के कागजात भी बरामद किए हैं। इन हत्यारोपियों की ग्राम घंघोला के पास से गिरफ्तारी की गई है। गौरतलब है कि 5 सितंबर-2020 समय करीब 16.00 बजे थाना कासना क्षेत्रा के सलेमपुर नहर में एक अज्ञात व्यक्ति का शव पडे होने की सूचना पुलिस को मिली। शव सडी गली अवस्था  मे था और जिसके चेहरे आदि से उसकी शिनाख्त नही हो पा रही थी। डीसीपी जोन-3 राजेश कुमार सिंह ने बताया कि शव के  पैन्ट की जेब मे केवल एक टोल की पर्ची प्राप्त हुई थी जो कि पलवल हरियाणा पेरीफेरल हाईवे टोल की थी। इस पर्ची के आधार पर पलवल टोल जाकर सीसीटीवी फ़ुटेज आदि चैक की गई तो इससे पता चला कि यह ट्रक ड्राइवर है जो ट्रक संख्या एचआर 61/सी 0491 को लेकर पलवल टोल  से दिनांक 01-9-2020 को समय़ करीब 13.00 बजे पैरीफेरल पर चढा था। साथ ही सीसीटीवी फुटेज से यह भी जानकारी हुई कि ट्रक पर ओम लॉजिस्टिक लिखा है। पुलिस ने इसके उपरान्त सिरसा तथा रामपुर पेरीफेरल कट जो कि पेरीफेरल हाइवे से उतरते है कि जांच की गई तो पता चला कि यह ट्क ड्राइवर ट्रक को लेकर दिनांक 02-9-2020 को समय करीब 13.30 बजे रामपुर टोल से उतरा है। इसके उपरांत पुलिस ने  ओम लोजिस्टिक से जानकारी की तो पता चला कि यह ट्रक उदयभान ड्राइवर चला रहा था। ट्रक ड्राइवर उदयभान का नंबर लेकर पुलिस ने उससे जानकारी प्राप्त की। पुलिस को जानकारी मिली कि इस ट्रक को वह और उसके साथी ड्राइवर ओमप्रकाश पुत्र श्रीचन्द्र निवासी ग्राम गौरीर थाना व तहसील  खेतडी जिला झुंझनू राजस्थान चला रहे थे। इस ट्रक में हुवली से सूखी लाल मिर्च लेकर आ रहे थे और जिसे नोएडा के सै0 67 में हल्दीराम कंपनी मे उतारना था। जब वह ट्रक लेकर दारुहेडा हरियाणा पहुचे तो उसके घर से उसे सूचना प्राप्त हुई थी कि बच्चे की तबीयत खराब है। इस पर वह अपने साथी ओमप्रकाश को ट्रक देकर ट्रक मे लदी मिर्च नोएडा मे उतारने को कह कर अपने घर चला गया था। शव की शिनाख्त हो जाने पर पुलिस की कार्यवाही आगे बढी। पुलिस को पोस्टमार्टम रिपोर्ट में पता चला कि ड्राइवर ओमप्रकाश को किसी नुकीली चीज से वार कर मारा गया है। डीसीपी जोन-3 ने बताया कि घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरो की गहनता से जांच की गई जिसमें मृतक ओमप्रकाश को दिनांक 02-09-2020 को  ग्राम घंघोला के अजीपाल उर्फ एमलए के साथ दिखना पाया गया तथा जांच के उपरान्त यह भी ज्ञात हुआ कि उस दिन अजीपाल उर्फ एमएलए, सोनू तथा शकील ने मृतक के साथ थे और चारो के द्वारा पहले देशी शराब के ठेके के पास शराब पी गई उसके उपरांत अजीपाल के खेत के पास जहां पर अजीपाल अपनी चारपाई डालकर सोता है तथा वहां पर एक ट्यूबवेल भी है। डीसीपी जोन-3 ने बताया कि मृतक ओमप्रकाश से अजीपाल उर्फ एमएलए से कहा सुनी और गाली गलौज हुई जिससे नाराज होकर तीनो ने मिल कर ओमप्रकाश की हत्या कर दी। साथ ही तीनों लोगे मृतक ओमप्रकाश को नहर मे लेकर गएं और जहां पर अभियुक्त शकील ने मृतक ओमप्रकाश के पैर  पकडे औऱ अभियुक्त सोनू ने मृतक के हाथ पकडे तथा अभियुक्त अजीपाल उर्फ एमएलए ने अपने बल्लम आला कत्ल  मृतक ओमप्रकाश को सीने पर कई वार करके हत्या कर दी और शव के चेहरे को क्षत विक्षत कर दिया ताकि कोई पहचान न सके। यही नही अभियुक्तों ने शव को वही नहर के आसपास उगी हुई झाडी व घास को उखाड कर शव के उपर डाल कर छिपा दिया, जिससे की शव किसी को दिखायी न दें। डीसीपी जोन-3 ने यह भी बताया कि अभियुक्तगण शातिर अपराधी हैं। अभियुक्त अजीपाल ने पूर्व मे अपनी  बहन व बहनोई की हत्या की थी तथा घंघोला के ही एक व्यक्ति की हत्या की थी जिसमें यह जेल गया था। इसके साथ ही इन अभियुक्तों के खिलाफ विभिन्न थाना क्षेत्रों में कई अपराधिक मामले दर्ज हैं।