हाईटेक शहर के ग्रेटर नोएडा के आवासीय सेक्टरो की स्थिति है, बद से बदतरः आलोक नागर






विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

ग्रेटर नोएडा के सेक्टर डेल्टा टू में कई अन्य प्रकार की समस्याओं के संबंध में एक ज्ञापन मुख्य कार्यपालक के नाम दिया गया। इस मौके पर आर. डब्लू. ए. महासचिव आलोक नागर ने बताया कि सेक्टर डेल्टा टू में सेक्टरवासी काफी समस्याओं से पिछले कई महीने से परेशान हैं। अधिकारियों के बार-बार दौरे होते हैं, गाड़ी का तेल खर्च करते हैं और फॉर्मेलिटी पुरी कर निकल जाते हैं, लेकिन समस्याएं ज्यों की त्यों बनी हुई रहती हैं। सेक्टर की समस्याएं काफी ऐसी हैं जो पिछले कई महीनों से लगातार शिकायत की जा रही है, लेकिन समस्या का हल नहीं हुआ। इनमें सिविल विभाग - गेट नंबर 2 जे ब्लॉक की बाउंड्री वॉल पिछले 1 साल से टूटी हुई है जिसकी कई बार शिकायत की गई है, जहां से पड़ोस के गांव के आवारा पशु सेक्टर में प्रवेश करते हैं और सेक्टर में गंदगी और नुकसान पहुंचाते हैं। पिछले कई वर्षों से चली आ रही सीवर और ड्रेन की समस्या का समाधान अभी तक नहीं हुआ है, सीवर और ड्रेन की सफाई का कार्य चला था, लेकिन आधा अधूरा होकर खत्म हो गया। प्रॉपर तरीके से सफाई नहीं हुई हल्की सी बारिश में ही सेक्टर में बाढ़ जैसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है। सेक्टर में ज्यादातर खाली प्लॉट है, जिसमें बड़ी-बड़ी घास जंगल जैसी स्थिति प्लॉट की हो गई है, जिसमें पड़ोस में रहने वाले परिवार आए दिन कीटनाशक सांप बिच्छू निकलकर दूसरे मकानों में जा रहे हैं और पड़ोस में रह रहे परिवारों में भय की स्थिति बनी हुई है। इसलिए सभी खाली प्लॉटों की जल्द से जल्द साफ सफाई कराई जाए। हेल्थ विभाग - सेक्टर में सफाई ना के बराबर हो रही है एक एक हफ्ते बीत जाने के बाद भी झाड़ू सेक्टर में प्रॉपर तरीके से हर ब्लॉक में नहीं लग पाती है, जिससे सेक्टर में गंदगी के ढेर लगे रहते हैं ना ही सेक्टर में प्रॉपर तरीके से लारवा दवाई का छिड़काव किया जा रहा है, जिसके चलते मच्छर कीटनाशक बहुत हो रहे हैं। उद्यान विभाग - सेक्टर के पार्कों में चारों तरफ गंदगी फैली हुई है ज्यादातर पार्कों  कि पिछले कई महीनों से स्ट्रीट लाइट बंद पड़ी है जिसके कारण पार्कों में असामाजिक तत्वों घूमते हैं ग्रीन बेल्ट की स्थिति काफी खराब है पेड़ों की छंटाई ना होने की वजह से सेक्टर की ज्यादा स्ट्रीट लाइट ढक गई है, जिससे की रोशनी नीचे तक नहीं आ पाती है गलियों में अंधेरा रहता है। इलेक्ट्रीशियन विभाग - सेक्टर की ज्यादातर स्ट्रीट लाइटें बंद पड़ी हुई है और ज्यादातर लाइटें पेड़ों की टहनियों में छिप गई हैं जिससे की रोशनी नीचे तक नहीं आ पाती है और गलियों में अंधेरा बना रहता है और कई जगह सेक्टर में स्ट्रीट पोल कि केवल अंडरग्राउंड न होने के बावजूद बाहर से ही ओपन पड़ी हुई है, जिससे आए दिन खतरा बना रहता है। सेक्टर में स्ट्रीट लाइटों को चेंज कर एलईडी लाइटें लगाई जाएं। सेक्टर के अंदर खाली प्लॉट में रह रही लेवर का सत्यापन कराया जाए या उनको खाली कराया जाए इसके कारण सेक्टरों में चोरी की वारदातें सेक्टर में बढ़ रही है उन पर विराम लग सके और जो सेक्टर में खाली प्लॉट हैं, जिनमें जंगल खड़ा हुआ है उन सभी मालिक को नोटिस भेजकर प्लॉटों को साफ कराया जाए। पत्र में मांग की गई है कि सभी समस्याओं का जल्द ही समाधान कराने का कष्ट करें।