गलगोटिया कॉलेज के शोषण एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ करप्शन फ्री इंडिया का बिगुल


विजन लाइव/ग्रेटर नोएडा

एक ओर पूरा देश जहां कल 15 अगस्त-2020 को स्वतंत्रता दिवस का पर्व मना रहा होगा वहीं करप्शन फ्री इंडिया की भूख हड़ताल गौतमबुद्धनगर होगी। करप्शन फी्र इंडिया गौतमबुद्धनगर और बुलंदशहर से निकला हुआ एक ऐसा संगठन है जो करप्शन,शोषण और विकास के मुद्दों को लेकर आवाज बुलंद करता चला रहा है। करप्शन फ्री इंडिया संगठन की बात की जाए तो करप्शन को लेकर इसके संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय और उनके साथी कृष्णपाल यादव पूरे उत्तर प्रदेश में भ्रमण करते हुए एक जनजागरण यात्रा साईकिल द्वारा कर चुके हैं। इस जनजागरण साईकिल यात्रा को हरी झंडी प्रसिद्ध समाज सेवी अन्ना हजारे ने रवाना किया था। गौतमबुद्धनगर में करप्शन और साथ में ही शोषितों की आवाज उठाने के लिए करप्शन फ्री इंडिया को जाना जाता है। ग्रेटर नोएडा क्षेत्र के गांवों में बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए भी करप्शन फ्री इंडिया धरना प्रदर्शन करता रहा है। करप्शन फ्री इंडिया की इस पहल का असर भी होता है और ग्रेटर नोएडा प्रधिकरण के अधिकारी हरकत में आते हैं तथा गांवों में साफ सफाई व विकास कार्य होते हैं। इसी साथ ही करप्शन फ्री इंडिया गलगोटिया कॉलेज के शोषण और भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी संघर्ष कर रहा है। कोरोना महामारी के चलते हुए जहां देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपील करते हैं कि किसी को भी नौकरी से न निकला जाए और साथ ही पूरी सैलरी दी जाए। वहीं ग्रेटर नोएडा स्थित गलगोटिया कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी के प्रबंधक के द्वारा लैब टेक्नीशियन एवं अन्य स्टाफ का 4 महीने का वेतन नहीं देने एवं नौकरी से निकालने के मामले में भी करप्शन फी्र इंडिया ने आवाज बुलंद की थी। यहीं नही इस मुद्दे को लेकर करप्शन फ्री इंडिया की टीम के लोग समय समय पर गौतमबुद्धनगर प्रशासन के आलाधिकारियों से शिकायत पत्र देकर मिल चुके हैं। किंतु कोई हल नही निकल पाया। यही नहीं दो दिन पहले करप्शन फ्री इंडिया के पदाधिकारी स्वंय जिलाधिकारी गौतमबुद्धनगर से मिल चुके हैं और इस शोषण एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ स्वतंत्रता दिवस के दिन भूख हडताल किए जाने की चेतावनी भी दे चुके हैं। करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक सदस्य आलोक नागर ने बताया कि गलगोटिया कॉलेज में लैब टेक्नीशियन एवं विभिन्न विभागों में कार्यरत कर्मचारियों का 4 महीने का वेतन नहीं देने एवं नौकरी से निकालने के विरोध में कर्मचारियों के समर्थन में करप्शन फ्री इंडिया संगठन के कार्यकर्ताओं ने 2 जुलाई एवं 9 अगस्त 2020 को जिलाधिकारी को संबोधित पत्र देकर कार्यवाही की मांग की थी। आलोक नागर ने बताया कि वेतन नहीं मिलने के मामले में संगठन के कार्यकर्ता एवं कर्मचारियों ने कई बार एडीएम प्रशासन दिवाकर सिंह एवं जिलाधिकारी सुहास एलवाई से मुलाकात कर कार्यवाही की मांग की थी, लेकिन कार्यवाही के नाम पर वहीं ढाक पर तीन पात हैं। आलोक नागर ने कहा कि प्रशासन के इस लापरवाह रवैया के खिलाफ 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के दिन गलगोटिया कॉलेज के इस शोषण एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ संगठन के कार्यकर्ता एवं कर्मचारी एक दिवसीय भूख हड़ताल पर जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर में बैठेंगे। उन्होंने कहा कि पत्र के माध्यम से यह मांग की गई है कि 14 अगस्त तक गलगोटिया कॉलेज कर्मचारियों का वेतन एवं उनको वापस नौकरी पर रखें अन्यथा स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को भूख हड़ताल की जाएगी। अब करप्शन फ्री इंडिया संगठन के संस्थापक चौधरी प्रवीण भारतीय के नेतृत्व में कर्मचारियों के साथ जिलाधिकारी कार्यालय सूरजपुर के प्रांगण में स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर एक दिवसीय भूख हड़ताल प्रारंभ की जाएगी।